भारत को इस महीने के अंत से अपने न्‍यूजीलैंड दौरे की शुरुआत करनी है. फरवरी के अंत में टीम इंडिया मेजबान टीम के साथ दो मैचों की टेस्‍ट सीरीज खेलेगी. खेल के सबसे लंबे प्रारूप में भारत के उपकप्‍तान अंजिक्‍य रहाणे ने न्‍यूजीलैंड में चलने वाली तेज हवाओं को भारत के लिए कड़ी चुनौती करार दिया. Also Read - IPL 2021, Rajasthan Royals vs Delhi Capitals: मैच प्रीव्यू, पिच रिपोर्ट और मौसम का हाल, जानिए क्या हो सकती है Playing XI?

पढ़ें:- Test Cricket: दशक के सर्वश्रेष्‍ठ पांच ऑलराउंडर्स में दो भारतीय, देखें पूरी लिस्‍ट Also Read - IPL 2021: शिखर धवन, अजिंक्य रहाणे और रविंचंद्रन अश्विन जैसे सीनियर से मदद ले रहे हैं कप्तान रिषभ पंत

पहला टेस्‍ट वेलिंगटन में 21 से 25 फरवरी और दूसरा टेस्‍ट क्राइस्टचर्च में 29 फरवरी से चार मार्च तक खेला जाएगा. न्‍यूज एजेंसी पीटीआई से बातचीत के दौरान अंजिंक्‍य रहाणे ने कहा,‘‘हमने वहां 2014 में भी खेला था . वहां मंद मंद हवायें चलती हैं. हालात के अनुरूप ढलना काफी अहम होगा. पिछले दौरे पर मैने वेलिंगटन में खेला था लेकिन क्राइस्टचर्च में हम लंबे समय बाद खेलेंगे.’’ Also Read - टीम इंडिया के लिए खेल वाशिंगटन सुंदर-मोहम्मद सिराज को आत्मविश्वास मिला, IPL में विपक्षियों को सिरदर्द देंगे: विराट कोहली

रहाणे खास तौर पर बायें हाथ के तेज गेंदबाज नील वेगनर को खेलने का अभ्यास कर रहे हैं. उन्होंने कहा ,‘‘वेगनेर ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हाल ही में बेहतरीन प्रदर्शन किया है. आप सिर्फ एक नाम नहीं ले सकते. बल्लेबाजी ईकाई के तौर पर आपको सभी का सम्मान करना होगा. मेजबान टीम को हालात की बखूबी जानकारी होगी लेकिन हमें अपना स्वाभाविक खेल दिखाना होगा .’’

पढ़ें:- कोहली के बचाव में उतरे शास्त्री, कहा-मैंने अपने जीवन में एक परफेक्ट कप्तान नहीं देखा

उन्होंने कहा ,‘‘अलग अलग तरह की गेंदबाजी से निपटने के अलग तरीके हैं. हर किसी का अपना तरीका है. कुछ खिलाड़ी क्रीज के बाहर रहना पसंद करते हैं और कुछ क्रीज के भीतर.’’

उन्होंने कहा कि न्यूजीलैंड में शरीर के पास खेलना काफी अहम होगा. ‘‘आपको बेसिक्स पर ध्यान देना होगा. तकनीक के बारे में ज्यादा नहीं सोच सकते. शरीर के एकदम करीब खेलना जरूरी है. रफ्तार और गति बिल्कुल अलग तरह की होगी.’’