एंटीगा: वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में शानदार प्रदर्शन करने वाले भारतीय टेस्ट उप कप्तान अजिंक्य रहाणे ने कहा कि पिछले दो साल में शतक नहीं लगा पाने के लिये हो रही आलोचनाओं को नजरअंदाज करने के लिए उन्होंने अच्छे प्रयास किए. रहाणे पहले टेस्ट मैच से पूर्व खराब फार्म में चल रहे थे लेकिन उन्होंने भारत की 318 रन से जीत में 81 और 102 रन बनाकर आलोचनाओं को करारा जवाब दिया है.

रहाणे ने बीसीसीआई टीवी पर मुंबई के अपने साथी रोहित शर्मा से कहा, ‘‘मैं कोशिश करता हूं कि मैं आलोचनाओं पर ध्यान नहीं दूं. ये ऐसी चीजें हैं जिन पर मेरा नियंत्रण नहीं हैं. आप जब शतक लगाते हो तब आपको हमेशा खुशी होती है.’’ उन्होंने कहा, मैं अपने प्रदर्शन से संतुष्ट हूं क्योंकि मुझे शुरू में काफी मेहनत करनी पड़ी. मेरे लिए शतक लगाने से पहले टीम को अच्छी स्थिति में पहुंचाना जरूरी था.’’ उपकप्तान रहाणे को उनको बेहतरीन पारी के लिए मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार प्रदान किया गया.

रहाणे ने अपनी शतकीय पारी में 242 गेंदें खेली तथा पांच चौके लगाये. उन्होंने शैनोन गैब्रियल की गेंद पर कवर पर जैसन होल्डर को कैच थमा दिया था और पवेलियन लौट गए थें. भारत और वेस्टइंडीज के बीच दूसरा टेस्ट मैच शुक्रवार से जमैका में खेला जाएगा.