नई दिल्ली : आईसीसी क्रिकेट विश्व कप से ठीक पहले पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज अजित अगरकर ने बुधवार को भारत के गेंदबाजी आक्रमण को प्रभावी बताकर उसकी सराहना की. उन्होंने साथ ही कहा कि टीम के सकारात्मक पक्षों मे एक यह भी है कि तेज गेंदबाजी आक्रमण के अगुआ जसप्रीत बुमराह के लिए बमुश्किल ही कोई दिन बुरा होता है.

मुंबई के 41 साल के इस पूर्व क्रिकेटर ने ऑस्ट्रेलिया को 30 मई से ब्रिटेन में शुरू हो रहे विश्व कप में जीत के दावेदारों में से एक बताया. उन्होंने कहा कि आरोन फिंच की टीम आसानी से सेमीफाइनल में जगह बना लेगी. उन्होंने कहा, ‘‘हमने देखा कि हैं बुमराह के लिए बामुश्किल ही कोई दिन बुरा होता है जो फायदे की स्थिति है.’’

विश्वकप 2019: 500 रन बनाने वाली पहली टीम बनना चाहती है वेस्टइंडीज

अगरकर ने कहा, ‘‘अगर टीम प्रबंधन दो तेज गेंदबाजों के साथ उतरने का फैसला करता है तो मेरे नजरिये से (मोहम्मद) शमी को भुवनेश्वर कुमार पर तरजीह मिलनी चाहिए क्योंकि वह बेहतर फॉर्म में हैं और हार्दिक पंड्या तीसरे तेज गेंदबाज की भूमिका निभाएगा.’’

विश्व कप 2019: राहुल ने की पांड्या की तारीफ, हर रोल में फिट हैं हार्दिक

इस पूर्व तेज गेंदबाज ने कहा, ‘‘इसलिए भारतीय आक्रमण काफी मजबूत और संतुलित है.’’ अगरकर ने कहा कि भारतीय गेंदबाजी आक्रमण में विविधता है. दो बार का विश्व चैंपियन भारत अपने अभियान की शुरुआत पांच जून को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ साउथम्पटन में करेगा. भारतीय टीम में रविंद्र जडेजा को स्पिन गेंदबाजी आलराउंडर जबकि पांड्या और विजय शंकर को तेज गेंदबाजी ऑलराउंडर के रूप में जगह मिली है.