नई दिल्ली: इंग्लैंड के पूर्व कप्तान और सलामी बल्लेबाज एलिस्टर कुक ने शुक्रवार को लीड्स में पाकिस्तान के खिलाफ दूसरे टेस्ट मैच में उतरने के साथ ही लगातार 154 टेस्ट खेलने का नया विश्व रिकॉर्ड बनाया. कुक ने ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान एलन बॉर्डर के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ा जिन्होंने 1979 से 1994 तक अपने देश की तरफ से लगातार 153 टेस्ट मैच खेले थे.

कुक ने भारत के खिलाफ नागपुर में एक से पांच मार्च 2006 के बीच खेले गये मैच से टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण किया था और उस मैच में शतक भी जड़ा था लेकिन बीमार होने के बाद वह श्रृंखला के आखिरी टेस्ट मैच में नहीं खेल पाये थे.

टीम इंडिया के ‘नंबर 4’ की उलझन सुझायेंगे लोकेश राहुल, तैयार कर लिया ‘वर्ल्डकप 2019’ प्लान

हालांकि कुक ने इसके बाद इंग्लैंड की तरफ से प्रत्येक टेस्ट मैच खेला. उनके नाम पर हेडिंग्ले टेस्ट शुरू होने से पहले तक 155 मैचों में 12099 रन दर्ज थे जिसमें 32 शतक भी शामिल हैं. बोर्डर ने जब अपना 153वां टेस्ट मैच खेला था तब वह 38 साल के थे जबकि कुक अभी 33 साल के हैं.

लॉर्ड्स टेस्ट मैच में कुक ने पहली पारी में 70 रन बनाये लेकिन दूसरी पारी में वह केवल एक रन बनाकर आउट हो गये थे. पाकिस्तान ने यह टेस्ट नौ विकेट से जीतकर दो मैचों की श्रृंखला में 1-0 की बढ़त बनायी.

लगातार टेस्ट मैच खेलने के रिकॉर्ड के मामले में कुक और बॉर्डर के बाद ऑस्ट्रेलिया के मार्क वॉ (107), भारतीय दिग्गज सुनील गावस्कर (106) और न्यूजीलैंड के ब्रैंडन मैकुलम (101) का नंबर आता है.

वेस्टइंडीज ने वर्ल्ड इलेवन को 72 रन से हराया, लुईस का तूफानी अर्धशतक

मैकुलम अपने करियर में पदार्पण के बाद संन्यास लेने तक कभी किसी टेस्ट मैच से बाहर नहीं रहे. इसी तरह से एडम गिलक्रिस्ट ने भी अपने पदार्पण के बाद लगातार 96 टेस्ट मैच खेलकर क्रिकेट के इस प्रारूप को अलविदा कहा.

हाल में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने वाले एबी डिविलियर्स ने पदार्पण के बाद लगातार 98 टेस्ट मैच खेले लेकिन बेटे के जन्म के कारण इसके बाद वह एक टेस्ट मैच में नहीं खेल पाये थे. उन्होंने कुल 114 टेस्ट मैच खेले.