इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की दो बार की विजेता कोलकाता नाइट राइडर्स के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) और महाप्रबंधक वैंकी मैसूर ने गुरुवार को कहा है कि लीग की सभी फ्रेंचाइजियां का मानना है कि लीग जब भी आयोजित की जाए, इसके मुख्य प्रारूप से छेड़छाड़ नहीं की जानी चाहिए और जिस प्रारूप में लीग खेली जाती है उसी तरह से इसे आयोजित किया जाना चाहिए। उन्होंने साथ ही कहा है कि विदेशी खिलाड़ियों को भी हमेशा की तरह मंजूरी मिलनी चाहिए। Also Read - आकाश चोपड़ा की सर्वकालिक IPL-11 टीम के कप्तान बने MS Dhoni, विंडीज धुरंधर क्रिस गेल को जगह नहीं

आईपीएल का 13वां सीजन कोरोनवायरस के कारण अनिश्चितकाल तक के लिए टाल दिया गया है। ऐसी चर्चा है कि ये लीग अक्टूबर-नवंबर के बीच हो सकती है, लेकिन इसके लिए जरूरी है कि इस बीच होने वाला टी-20 विश्व कप स्थगित हो जाए। स्वास्थ परेशानियां और यातायात संबंधी पाबंदियों के चलते विदेशी खिलाड़ियों के बिना भी आईपीएल कराने की चर्चाएं हैं। Also Read - मैदान पर लौटे स्टार बल्लेबाज स्टीव स्मिथ; भारत के खिलाफ सीरीज की तैयारी शुरू

मैसूर ने गुरुवार को यहां फ्रेंचाइजी द्वारा अम्फान तूफान से प्रभावित लोगों की मदद करने के लिए लांच किए गए कार्यक्रम केकेआर सहायता वाहन के मौके पर कहा कि लीग की विशेषता से कोई छेड़छाड़ नहीं होनी चाहिए। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मैसूर ने कहा, “मुझे लगता है कि इसमें कोई शक की बात नहीं है कि आईपीएल एक ऐसी चीज बन गया जिसका बोलबाला सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि पूरे विश्व में है।” Also Read - इरफान पठान ने बताया रोहित शर्मा-शिखर धवन की सफलता का राज

उन्होंने कहा, “इसका कारण उन सभी चीजों का संयोजन है जो आईपीएल को बनाती हैं। हां यह इंडियन प्रीमियर लीग है और यह मुख्यत: भारतीय खिलाड़ियों के लिए है जो किसी भी टीम की रीढ़ की हड्डी हैं, लेकिन हमें इस बात को मानना पड़ेगा.. जब आप हमारी टीम को देखते हैं तो..उसमें सुनील नरेन, आंद्रे रसेल, पैट कमिंस, इयोन मोर्गन हैं.. जब यह चारों हमारे भारतीय खिलाड़ियों के साथ मिलकर जो संयोजन बनाते हैं वही चीज इस आईपीएल को काफी विशेष बनाती है।”

उन्होंने कहा, “आप किसी भी टीम को देख सकते हैं और इसी बात को लेकर चर्चा कर सकते हैं। इसलिए हमें एक चीज के बारे में सोचना चाहिए कि हमें इसकी विशेषता से छेड़छाड़ नहीं करना चाहिए। वस्तू की विशेषता ही उसे अलग बनाती है।”

मैसूर ने कहा, “मैं नाइट राइडर्स की तरफ से आपसे कह सकता हूं और अधिकतर फ्रेंचाइजियों की तरफ से भी यह कहना ठीक होगा कि सभी का एकमत यह है कि टूर्नामेंट पूरे प्रारूप में खेला जाना चाहिए, उतने ही मैच, सभी खिलाड़ियों को इसका हिस्सा बनना चाहिए। मुझे उम्मीद है कि जो भी विंडो आईपीएल के लिए हमें मिलेगी हमें उसमें ऐसा करने में सफल रहेंगे।