नई दिल्ली : टीम इंडिया के खिलाड़ी अंबाती रायडू मुश्किल में फंस सकते हैं. आईसीसी ने रायडू के बॉलिंग एक्शन पर सवाल उठाया है. उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिडनी में खेले गए वनडे सीरीज के पहले मैच में बॉलिंग की थी. इसके बाद आईसीसी ने उनके एक्शन पर संदेह जाहिर किया. आईसीसी की ऑफीशियल वेबसाइट पर छपी एक रिपोर्ट के मुताबकि रायडू को 14 दिन के अंदर बॉलिंग का टेस्ट देने होगा. हालांकि इस दौरान बॉलिंग जारी रख सकेंगे. Also Read - Aus vs Ind, 1st ODI, Preview: ऑस्ट्रेलिया में भारत के 'संकटमोचन' रोहित शर्मा के बिना पहला वनडे खेलने उतरेगी टीम इंडिया

Also Read - ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज से पहले टीम इंडिया में ऑलराउंडर खिलाड़ियों की कमी

दरअसल सिडनी में खेले वनडे में भारत को 34 रन से हार का सामना करना पड़ा. इस मुकाबले में रायडू ने 2 ओवर फेंके थे, जिसमें 13 रन दिए थे. सिडनी वनडे के बाद आईसीसी ने रायडू के बॉलिंग एक्शन पर संदेह जताया. लिहाजा उन्हें 14 दिन के अंदर बॉलिंग टेस्ट देना होगा. टेस्ट के दौरान यह पता लगाया जायेगा कि रायडू का बॉलिंग एक्शन वैध है या नहीं. हालांकि टीम इंडिया के इस खिलाड़ी के लिए अच्छी बात यह है कि वो टेस्ट होने तक इंटरनेशनल क्रिकेट में बॉलिंग कर सकेंगे. Also Read - BCCI का कहना- टेस्ट टीम का हिस्सा नहीं थे रोहित-इशांत; ऑस्ट्रेलिया दौरे से बाहर होने की संभावना

एडिलेड पहुंची टीम इंडिया, दूसरे वनडे से पहले बड़ा बदलाव

टीम इंडिया में आते ही सोशल मीडिया पर छाए शुभमन गिल, विजय शंकर की हुई जमकर तारीफ

बता दें कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेली जा रही वनडे सीरीज में रायडू टीम इंडिया के अहम हिस्सा हैं. उन्हें बैटिंग के साथ कभी-कभी बॉलिंग का भी मौका दिया जाता है. अगर उनके करियर को देखें तो उन्होंने 9 वनडे पारियों में अब तक बॉलिंग की है. इस दौरान रायडू ने 3 विकेट भी झटके. जब कि फर्स्ट क्लास मैचों में 10 विकेट ले चुके हैं. अहम बात यह है कि वो नियमित बॉलर नहीं हैं. लिहाजा अगर उनकी बॉलिंग से आईसीसी को कोई शिकायत होती है तो इसमें टीम इंडिया के लिए चिंता की कोई बात नहीं होगी.