नई दिल्ली. IPL में वो KKR की शान है. किंग खान की टीम का अहम लड़ाका है. वो बल्ले से बेखौफ है तो गेंद से गजब का कहर बरपाने वाला. वेस्टइंडीज की टीम की ताकत में भी उसके होने से इजाफा हो जाता है. वो मौजूदा क्रिकेट के बड़े मैच विनरों में एक है. इस हरफनमौला क्रिकेटर का नाम है आंद्रे रसेल, जिन्हें वेस्टइंडीज क्रिकेट बोर्ड ने इंग्लैंड के खिलाफ आखिरी 2 वनडे के लिए टीम में शामिल किया है. Also Read - टी20 में 900 से अधिक छक्के जड़ चुके हैं क्रिस गेल, भारतीय बल्लेबाज आसपास भी नहीं

7 महीने बाद रसेल फिर से Also Read - IPL और भारत को याद कर रहे आंद्रे रसेल; कहा- मुझे छक्के लगाने से रोक रहा है कोरोना वायरस

कैरेबियाई टीम में रसेल की वापसी पूरे 7 महीने बाद हुई है. मतलब ये कि इस विस्फोटक और खतरनाक मिजाज के ऑलराउंडर ने आखिरी अंतर्राष्ट्रीय मैच अगस्त 2018 में खेला था. रसेल टीम में केमार रोच की जगह लेंगे जो पीठ दर्द की वजह से सीरीज से बाहर हो गये हैं. Also Read - आंद्रे रसेल ने खाई KKR के साथ जीने-मरने की कसम, इसी फ्रेंचाइजी के साथ IPL रिटायरमेंट लेना चाहता हूं

गेंद से ज्यादा दिखेगा बल्ले का जोर

रसेल इन दिनों अपने घूटने की चोट से जूझ रहे हैं. ऐसे में टीम के चीफ सलेक्टर कर्टनी ब्राउन ने माना कि रसेल की गेंदबाजी सीमित हो सकती है लेकिन निचले क्रम में उनकी बल्लेबाजी अहम साबित हो सकती है. ब्राउन ने कहा, ‘‘हम सभी जानते हैं कि घुटने की चोट के कारण आंद्रे की गेंदबाजी सीमित हो सकती है लेकिन निचले क्रम में उनकी बल्लेबाजी टीम के लिये महत्वपूर्ण साबित होगी. ’’