इंग्लैंड क्रिकेट टीम के पूर्व कोच एंडी फ्लावर 12 साल बाद इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) से अलग हो गए हैं. एंडी फ्लावर ने ईसीबी की आधिकारिक वेबसाइट पर कहा, ‘ये सचमुच मेरे लिए बेहद खास रहा.’

9th Sultan of Johor Cup 2019: भारतीय जूनियर हॉकी टीम ने मलेशिया को हरा किया जीत से आगाज

जिम्बाब्वे के पूर्व बल्लेबाज एंडी को 2007 में पीटर मूर्स के साथ इंग्लैंड क्रिकेट टीम का सहायक कोच नियुक्त किया गया था. इसके दो साल बाद वह टीम के मुख्य कोच बने थे. बाद में वह 2014 में वो इंग्लैंड लायंस के साथ जुड़ गए थे.

उन्होंने कहा, ‘2010-11 में में एशेज टेस्ट सीरीज में मिली जीत सबसे खास था. ऑस्ट्रेलिया में एशेज सीरीज में जीतना काफी मुश्किल था, लेकिन हमारी टीम ने इसे कर दिखाया. ये मेरे कोचिंग करियर का सबसे ज्यादा गर्व करने वाला मौका था. टीम के युवा खिलाड़ियों को उस चुनौती को सफलतापूर्वक लेते देखना काफी सुखद था और ऐसा करने में काफी समय लगा.’

अश्विन का दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 50 टेस्ट विकेट पूरे, कुंबले-हरभजन के क्लब में हुए शामिल

एंडी ने आगे कहा, ‘भारत में 2012-13 में टेस्ट सीरीज जीतना अपने आप में बड़ी बात थी. भारतीय परिस्थितियों में इस तरह की जीत बहुत ही खास था. 2010 टी-20 विश्व कप में जिस तरह से इंग्लैंड की टीम ने आक्रामकता और आजादी के साथ क्रिकेट खेली वे भी अपने आप में शानदार था.’