विश्व के पूर्व नंबर एक खिलाड़ी एंडी मर्रे (Andy Murray) ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी से निबटने के बाद भी टेनिस की वापसी के लिये जल्दबाजी नहीं की जानी चाहिए। इस वैश्विक महामारी के कारण पुरुष एटीपी और महिला डब्ल्यूटीए टूर 13 जुलाई तक निलंबित है। इस वजह से इस साल होने वाला विंबलडन टूर्नामेंट रद्द कर दिया गया है। Also Read - Mann ki Baat Today: कोरोना वायरस से गरीब एवं श्रमिक परिवार सबसे ज्यादा बुरी तरह प्रभावित हुए हैं: पीएम मोदी

पेशेवर फुटबाल लीग इन गर्मियों में अपने सीजन को खत्म करने की उम्मीद लगाए हुए हैं लेकिन मर्रे ने कहा कि टेनिस खिलाड़ियों को बहुत अधिक यात्राएं करनी पड़ती हैं और इसलिए इस खेल की वापसी जनजीवन पूरी तरह से सामान्य होने के बाद सबसे आखिर में होनी चाहिए। Also Read - रिपोर्ट में दावा- प्रवासियों-मजदूरों को लॉकडाउन से पहले घर जाने देते तो इतना न बढ़ता कोरोना, अब देश चुका रहा भारी कीमत

मर्रे ने मंगलवार को कहा, ‘‘मैं समझता हूं कि सभी टेनिस खिलाड़ी जल्द से जल्द कोर्ट पर वापसी करना चाहते हैं लेकिन खेलना अभी सबसे महत्वपूर्ण चीज नहीं है। पहले हम सभी अपने आम जनजीवन की वापसी चाहते हैं। जब हम बिना किसी डर के बाहर जा सकें, दोस्तों से मिल सकें, रेस्टोरेंट जा सकें और सामान्य दिनों की अपनी स्वतंत्रता में जी सकें। और तब उम्मीद है कि यात्रा करने में भी दिक्कत नहीं होगी और खेल भी पूर्व की तरह आयोजित किये जाने लगेंगे। लेकिन मुझे नहीं लगता कि ऐसा जल्दी होने वाला है।’’ Also Read - कोरोना के बढ़ते मामलों पर बोले संजय राउत- अहमदाबाद में आयोजित 'नमस्ते ट्रंप' कार्यक्रम से भारत में फैला वायरस

मर्रे का मानना है कि टेनिस की पूर्ण वापसी के लिये वायरस पर नियंत्रण बेहद जरूरी है। यूएस ओपन और फ्रेंच ओपन के आयोजकों ने इन टूर्नामेंट के लिये अगस्त और सितंबर की तिथियां तय कर रखी हैं लेकिन मर्रे ने कहा, ‘‘पहले हमें वायरस के प्रसार को रोकने के उपाय ढूंढने होंगे और एक बार ऐसा होने के बाद हम सामान्य जिंदगी जीना शुरू कर सकते हैं। ’’