किंग्स इलेवन पंजाब फ्रेंचाइजी ने इंडियन प्रीमियर 2020 से पहले दो सीजन तक कप्तान रहे भारतीय स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को ना केवल कप्तान पद से हटाया बल्कि उन्हें टीम से ही बाहर कर दिया। अश्विन आईपीएल 2020 टूर्नामेंट दिल्ली कैपिटल्स के लिए खेलेंगे। वहीं भारतीय शीर्ष क्रम बल्लेबाज केएल राहुल अगले साल पंजाब टीम का नेतृत्व करते नजर आएंगे। टीम के कोच और पूर्व भारतीय दिग्गज अनिल कुंबले का भी कहना है कि इस बल्लेबाज के लिए कप्तान पद पर आने का ये बिल्कुल सही समय है।

क्रिकबज को दिए इंटरव्यू में कुंबले ने राहुल को कप्तान बनाए जाने के फैसले पर कहा, “वो पिछले दो सालों में हमारा नंबर-एक खिलाड़ी रहा है। सभी केएल का सम्मान करते हैं और मुझे लगता है कि ये उसके लिए आगे आकर कप्तान का पद स्वीकार करने का सही समय है। एक भारतीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को बीच में रखकर फ्रेंचाइजी को तैयार करना अहम था और यही कारण है कि हमने राहुल को चुना।”

राहुल को कप्तान बनाए जाने का फैसला और भी सही लगता है जब आप पंजाब के स्क्वाड को गौर से देखते हैं। पंजाब टीम में कर्नाटक के कुल पांच खिलाड़ी हैं जिसमें से एक राहुल भी हैं। ऐसे में उनका कप्तान बनना टीम के हित में है।

दानिश कनेरिया पर खुलासे के बाद शोएब अख्तर ने वसीम अकरम का वीडियो किया वायरल

टीम के क्रिकेट ऑपरेशन्स डायरेक्टर कुंबले ने आगे कहा, “मुझे लगता है कि वो समझदार है और ये उसका सही समय है। ये लोगों के उसको अलग नजरिए से देखने का सुनहरा मौका है। जिस तरह का मजबूत समूह हमारे पार है, मुझे पूरा यकीन है कि उस अनुभव का असर राहुल पर पड़ेगा। साथ ही वो हमारे रीटेन किए गए सभी 16 खिलाड़ियों को साथ दो साल से खेलता आया है। इसलिए वो सभी को जानता है, साथ ही कर्नाटक के सभी खिलाड़ियों ने हमेशा साथ ही क्रिकेट खेला है, इसलिए ये राहत की बात है।”

राहुल को पंजाब फ्रेंचाइजी का कप्तान बनाए जाने की घोषणा 19 दिसंबर को आयोजित की गई आईपीएल नीलामी के दौरान ही किया गया था। इस खबर पर राहुल की प्रतिक्रिया के बारे में कुंबले ने कहा, “वो खुश था। जब आप किसी को बताते हैं कि वो टीम का नेतृत्व करने वाला है, तो आप उसके मन में थोड़ी अनिच्छा देखते हैं लेकिन राहुल ने इसे खुल मन से स्वीकार किया। उसने कहा कि वो टीम का नेतृत्व करने को लेकर खुश है, जो कि अच्छी बात है।”