भारतीय पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की रिटायरमेंट से जुड़ी खबरें काफी दिनों से चल रही है. कोई एमएस धोनी को टीम में देखना चाहता है तो कोई उन्हें खिलाड़ी के बजाए मेंटर की भूमिका में टीम के साथ देखना चाहते हैं. धोनी की कप्तानी में भारत ने कई खिताब अपने नाम किया है. चाहे वो आईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप हो या एकदिवसीय वर्ल्ड कप, धोनी ने टीम इंडिया को हर खिताब के साथ एक नया मकाम दिलाने का प्रयास किया है.

अगले साल ऑस्ट्रेलिया में होने वाली टी-20 विश्व कप के लिए धोनी का प्लेइंग एलेवेन में चुना जाना थोड़ा मुश्किल लग रहा है. आईसीसी वर्ल्ड कप 2019 में खराब प्रदर्शन के कारण धोनी को आराम देते हुए वेस्टइंडीज और साउथ अफ्रीका के खिलाफ सीरीज के लिए भी नहीं चुना गया. भारतीय पूर्व कप्तान और कोच अनिल कुंबले का कहना है कि जब कभी धोनी रिटायर होने का फैसला लेते हैं, उन्हें पूरी इज्जत के साथ विदा करना चाहिए. कुंबले का मानना है कि धोनी एक शानदार रिटायरमेंट के हकदार हैं. भारतीय क्रिकेट टीम के चयनकर्ताओं को घेरे में लेते हुए कुंबले ने कहा की टी-20 वर्ल्ड कप से पहले धोनी के बारे में उन्हें सोचना चाहिए और धोनी को बताना चाहिए.

इस दाएं हाथ के पूर्व स्पिनर ने भारतीय टीम को आगाह करते हुए कहा की जैसे इस वर्ल्ड कप में भारतीय टीम अस्थाई नजर आ रही थी वैसे आने वाले प्रतियोगिता में नहीं होना चाहिए. उन्होंने कहा पूरे वर्ल्ड कप में नंबर चार के बल्लेबाज पर बहस हो रही थी और अगले साल होने वाली टी-20 विश्व कप के लिए इस बहस का जवाब ढूंढ़ना पड़ेगा. छोटे प्रारूप के मैचों में ऐसी दिक्कतें बहुत परेशान कर सकती हैं.

वेस्टइंडीज के खिलाफ जीत दर्ज करने के बाद भारत अगला टी-20 सीरीज साउथ अफ्रीका के खिलाफ खेलने उतरेगा. इस सीरीज का पहला मैच धर्मशाला में 15 सितंबर को खेला जाएगा.