जूनियर स्तर पर अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा चुकी युवा महिला पहलवान अंशु मलिक (Aanshu Malik) ने बेलग्रेड में जारी व्यक्तिगत कुश्ती प्रतियोगिता (Individual Wrestling World Cup) में सिल्वर मेडल अपने नाम किया है. इस प्रतिष्ठित टूर्नामेंट में पदक जीतने वाले अंशु एकमात्र महिला पहलवान रहीं. Also Read - Individual Wrestling World Cup: 4 साल बाद रेसलिंग में वापसी करने वाले नरसिंह यादव की चुनौती क्वालीफिकेशन दौर में ही टूटी, रवि ने भी किया निराश

सीनियर वर्ग में खेल रही अंशु ने इस स्तर पर तीन टूर्नामेंटों में अपना तीसरा पदक जीता है. बुधवार रात को हुए खिताबी मुकाबले में अंशु को मालदोवा की अनास्तासिया निचिता के खिलाफ 1-5 से हार झेलनी पड़ी. Also Read - इस कनपुरिया मॉडल की बिकिनी तस्वीरों के लाखों हैं दीवाने, आपने देखा क्या?

अंशु ने इसी साल नई दिल्ली में एशियाई चैंपियनशिप (Asian Championship) में कांस्य पदक जीता था जबकि जनवरी में रोम में मातियो पेलिकोन टूर्नामेंट में रजत पदक हासिल किया था. अंशु ने 57 किग्रा वर्ग में विश्व चैंपियनशिप की पदक विजेता पूजा ढांडा (Pooja Dhanda) और अनुभवी सरिता मोर (Sarita Mor) की मौजूदगी के बावजूद इस वर्ग में अपना दावा मजबूत किया है. Also Read - रियो ओलंपिक मेडलिस्ट पहलवान साक्षी मलिक ने फेडरेशन से लगाई ये गुहार

भारतीय पहलवान ने अपने अभियान की शुरुआत अजरबेजान की एलयोना कोलेसनिक के खिलाफ 4-2 की जीत के साथ की और फिर क्वार्टर फाइनल में जर्मनी की लॉरा मर्टेन्स को 3-1 से हराया. अंशु ने सेमीफाइनल में रूस की वेरोनिका चुमिकोवा को चित्त किया.

एक अन्य भारतीय पहलवान पिंकी भी 55 किग्रा वर्ग के सेमीफाइनल में पहुंची जहां उन्हें बेलारूस की इरीना कुराचकिना के खिलाफ हार झेलनी पड़ी. पिंकी को इसके बाद कांस्य पदक के मुकाबले में रूस की ओल्गा खोरोशावत्सेवा के खिलाफ तकनीकी दक्षता के आधार पर शिकस्त झेलनी पड़ी.

सरिता (59 किग्रा), सोनम मलिक (62 किग्रा) और साक्षी मलिक ( Saskhi Malik 65 किग्रा) अपने-अपने वर्ग में क्वार्टर फाइनल से आगे बढ़ने में नाकाम रहे. अनुभवी गुरशरणप्रीत ने 72 किग्रा वर्ग के रेपेचेज वर्ग में जगह बनाई लेकिन तकनीकी दक्षता के आधार पर उन्हें येवगेनिया जखारचेनको के खिलाफ शिकस्त झेलनी पड़ी.

निर्मला देवी (Nirmala Devi 50 किग्रा) और किरण (76) क्वालीफिकेशन दौर में ही हार गए. निर्मला को पोलैंड की अन्ना लुकासियाक जबकि किरण को कनाडा की एरिका एलिजाबेथ विएबे के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा.