मुंबई: फिल्‍म अभिनेता और सलमान खान के छोटे भाई अरबाज खान ने आईपीएल में सट्टेबाजी मामले में पुलिस को अपना बयान दे दिया है. पुलिस के अनुसार इस मामले में अब तक छह लोगों की गिरफ्तारी हुई है. अरबाज के बयान को रिकॉर्ड कर लिया गया है, लेकिन उनके बयान का अभी खुलासा नहीं किया जा सकता. जरूरत हुई तो उन्‍हें दोबारा बुलाया जाएगा.

ठाणे एक्‍सटॉर्शन सेल से बयान देकर बाहर निकलते हुए अरबाज खान ने बताया कि मैंने पुलिस को सभी जानकारियां दे दी हैं. मैं जांच में पूरी मदद करता रहूंगा. वहीं, डीसीपी, क्राइम अभिषेक त्रिमुखे के अनुसार जांच में कुछ नए नाम सामने आए हैं. पुलिस उनके खिलाफ भी कार्रवाई करेगी.

वहीं, आईपीएल के कमिश्‍नर राजीव शुक्‍ला ने इस बारे में पूछे जाने पर कहा कि मामला पुलिस के पास है, इसलिए उन्‍हें कुछ करने की जरूरत नहीं है. बीसीसीआई और आईसीसी की अपनी-अपनी एंटी करप्‍शन यूनिट है. पुलिस उनसे संपर्क कर सकती है.

इससे पहले शनिवार सुबह बॉलीवुड अभिनेता अरबाज खान ने आईपीएल में सट्टा लगाने की बात कबूल कर ली. अरबाज से शनिवार को थाणे पुलिस ने पूछताछ की. इस दौरान उन्होंने बताया कि आईपीएल के दौरान सट्टेबाजी की और इसमें उनका काफी नुकसान भी हुआ है. बताया जा रहा है कि अरबाज को सट्टेबाजी की लत काफी समय पहले ही लग गई थी. इसी वजह से उनकी पत्नी मलाइका अरोड़ा ने उन्हें छोड़ दिया.

अरबाज ने पूछताछ के दौरान बताया कि उन्होंने आईपीएल के सीजन 11 के दौरान सट्टेबाजी की थी. उन्होंने यह भी बताया कि उनकी यह आदत काफी पुरानी है. सूत्रों के हवाले से मिली खबर के मुताबिक अरबाज ने बताया कि उन्होंने पिछले साल भी सट्टेबाजी की थी, जिसमें 2.75 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ था.

इससे पहले इस मसले पर पुलिस इंस्पेक्टर राजकुमार कोठमीरे ने कहा कि एक सट्टेबाज सोनू जलान अका सोनू बाटला को कुछ समय पहले गिरफ्तार कर लिया गया और एईसीसी ने आईपीएल सट्टेबाजी मामले में उससे पूछताछ की, जिसके बाद अरबाज को समन भेजा गया. सोनू का नाता कई माफिया वालों से बताया जा रहा है. इसमें दाउद इब्राहिम कासकार का नाम भी शामिल है.

पुलिस इंस्पेक्टर राजकुमार के अनुसार, इस पूरे आईपीएल घोटाले में बड़े सट्टेबाज शामिल हैं, जो मुंबई,अहमदाबाद, जयपुर और नई दिल्ली से संचालन कर रहे हैं. करीब 10 साल पहले आईपीएल घोटाले का मामला सामने आया था और इसमें सोनू को गिरफ्तार किया गया था.