नई दिल्ली. फीफा विश्व कप के 21वें संस्करण के पहले प्री-क्वार्टर फाइनल मुकाबलें में आज दो बार की विजेता अर्जेटीना का सामना फ्रांस से होगा. असल विश्व कप की शुरुआत सही मायने में अंतिम-16 दौरे से शुरू होगी जहां हर टीम को हर दौर में अपने विश्व कप जीतने के सपने को पूरा करने का एक मौका मिलेगा. अगर हार मिली तो सपना टूटेगा और अगर जीत मिली तो ट्रॉफी की तरफ एक कदम बढ़ेगा.
विश्व कप की शुरूआत से पहले अजेर्टीना और फ्रांस दोनों को खिताब का दावेदार माना जा रहा था. अब जबकि यह दोनों टीमें नॉकआउट में भिड़ रहीं हैं तो एक बात तय है कि एक टीम इस रेस से बाहर हो जाएगी. Also Read - 2018 FIFA वर्ल्ड कप का बेस्ट गोल कुछ ऐसा था कि देखते रह गए थे मेसी, VIDEO

अजेर्टीना ने हालांकि उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन नहीं किया है. ग्रुप दौर में उसके प्रदर्शन ने कई लोगों को मायूसी दी, लेकिन टीम ने जरूरत के समय अपने आप को संभाला और अगले दौर में जगह बनाई.
फ्रांस के खिलाफ उसे अपने प्रदर्शन में सुधार करना होगा. वह जिस तरह का खेल खेलती आई है अगर वही खेलती रही तो फ्रांस के लिए क्वार्टर फाइनल का रास्ता खुला होगा. अजेर्टीना की टीम की परेशानी यह है कि वह अपने कप्तान लियोनेल मेसी पर टिकी है. वह जब भी फंसती है उम्मीद करती है के मेसी अपना करिश्मा दिखाएं. Also Read - खेलने नहीं, बेचने में आगे, दुनिया के 60 देश खरीद रहे Made in India फुटबॉल

नाइजीरिया के खिलाफ ग्रुप दौर के अंतिम मैच में अजेर्टीना को जीत चाहिए थी और मेसी ने मैच का पहला गोल कर अपनी टीम का हौसला बढ़ाया था हालांकि मार्कस रोजो ने अजेर्टीना के लिए विजयी गोल किया था. फ्रांस के लिए भी यह मैच किसी भी लिहाज से आसान नहीं होने वाला है क्योंकि ग्रुप दौर में उसे कोई कड़ा प्रतिद्वंद्वी नहीं मिला. अब जबकि अजेर्टीना जैसी मजबूत टीम और मेसी जैसे महान स्ट्राइकर उसके सामने है तो उसे बेहद सतर्क रहना होगा. Also Read - PHOTOS: 20 साल बाद चैंपियन बने फ्रांस ने स्वैग से किया विश्व कप विजेता टीम का स्वागत

फ्रांस ने इस विश्व कप में एक गोल खाया है और तीन गोल किए हैं. वह इस विश्व कप में गोलरहित ड्रॉ खेलने वाली इकलौती टीम है. उसने ग्रुप दौरे के अपने आखिरी मैच में डेनमार्क के साथ ड्रॉ खेला था. इस मैच में फ्रांस के डिफेंस की कड़ी परीक्षा होनी है जिसके लिए टीम के कोच दिदिर डेसचेम्प्स ने तैयारी कर ली होगा. वह मेसी के खिलाफ किस रणनीति से उतरते हैं वो देखना होगा. फ्रांस की उम्मीदें एंटोनी ग्रीजमैन, पॉल पोग्बा और उमतिति पर टिकी होंगी। यह तीनों खिलाड़ी ऐसे हैं जो अजेर्टीना के खेल को जानते भी हैं और उसे टक्कर देने का माद्दा भी रखते हैं.