नई दिल्ली: आइसलैंड के गोलकीपर हेंस थोर हैल्डोरसल ने अपने शानदार प्रदर्शन के दम पर फीफा विश्व कप खिताब की प्रबल दावेदार मानी जा रही अर्जेंटीना को ग्रुप-डी के अपने पहले मुकाबले में 1-1 की बराबरी पर रोक दिया. लुज्निकी स्टेडियम में शनिवार को खेले गए इस मुकाबले में हैल्डोरसल ने कई शानदार बचाव किए, जिसमें 64वें मिनट में अर्जेंटीना को मिली पेनाल्टी भी शामिल है. इस पेनाल्टी को विश्व के महान फुटबॉल खिलाड़ी लियोनेल मेसी ने लिया था लेकिन हैल्डोरसल ने अपनी दाईं ओर कूदते हुए मेसी को गोल से महरूम रखा.

अपना पहला विश्व कप खेल रही आइसलैंड ने अपने पर्दापण मैच में उम्मीद से बेहतर खेल दिखाते हुए सभी अनुमानों को गलत साबित किया और 2014 में फाइनल तक का सफर तय करने वाली अर्जेंटीनी टीम को विजयी शुरुआत से वंचित रखा. आइसलैंड ने दमदार शुरुआत की और 20 सेकेंड के अंदर ही टीम के स्टार खिलाड़ी जिल्फि सिगर्डसन ने 20 गज की दूरी से गोल दागने का प्रयास किया.

आइसलैंड की शुरुआती हमले के बाद अर्जेंटीना संभली और हमले तेज कर दिए. टीम को पांचवें मिनट में फ्री-किक मिली. मेसी ने बॉक्स के बाहर बाएं छोर से शानदारी फ्री-किक ली लेकिन डिफेंडर निकोल्स ओटामेंडी हेडर के बावजूद गेंद को गोल में नहीं डाल पाए.

अनुष्का ने बीच सड़क पर कचरा फेंक रहे व्यक्ति को लगाई डांट, कोहली ने शेयर किया VIDEO

इसके चार मिनट बाद, अर्जेंटीना के गोलकीपर विल्फ्रेडो काबालेरो ने अपने डिफेंडर को पास देने में गलती की जिसके कारण आइसलैंड के बिरकिर बजरनासन को गोल करने का शानदार मौका मिली लेकिन वह गेंद को गोल पोस्ट की बाईं ओर मार बैठे. बजरनासन के प्रयास के बाद अर्जेंटीना ने अपने खेल में सुधार लाया और गेंद पर नियंत्रण बनाने के अधिक प्रयास किया. पूरे मैच के दौरान कप्तान लियोनेल मेसी की टीम ने 78 प्रतिशत बाल पोजेशन रखा.

कोच साम्पोली ने मेसी को इस मैच में विंगर की जगह एक अटैकिंग मिडफील्डर के रूप में खिलाया, जिसका लाभ टीम को मिला. 19वें मिनट में स्ट्राइकर सर्गियो एग्वेरो को बॉक्स के अंदर थोड़ी सी जगह मिली और उन्होंने अपने बाएं पैर से शानदार गोल दागकर अर्जेंटीना को 1-0 की बढ़त दिला दी.

युवराज सिंह ने की FIFA Wolrd Cup के लिए भविष्यवाणी, बताया कौन जीतेगा खिताबी मुकाबला

आइसलैंड ने बराबरी का गोल करने के लिए केवल चार मिनट का समय लिया. सिगर्डसन ने बेहतरीन शॉट लिया. अर्जेटीना के गोलकीपर गेंद को क्लियर नहीं कर पाए और स्ट्राइकर अल्फ्रेड फिनबोगसन ने गोल करके अपनी टीम को बराबरी पर ला खड़ा किया.

पहला हाफ समाप्त होने से पहले (45वें मिनट) आइसलैंड के सिगर्डसन को अपनी टीम को बढ़त दिलाने का मौका मिला लेकिन गोलकीपर काबालेरो ने शानदार बचाव करके अपनी टीम को मैच में बनाए रखा. अर्जेंटीना ने दूसरे हाफ की आक्रामक शुरुआत की और आइसलैंड की मिडफील्ड एवं डिफेंस को लगातर पेरशानी में डाले रखा.

मैच के 64वें मिनट में आइसलैंड का डिफेंस अर्जेंटीना के फॉरवर्ड खिलाड़ियों द्वारा बनाए गए दबाव में बिखर गई और पेनाल्टी दे बैठी. सभी की नजरें मेसी पर थीं लेकिन वह पेनाल्टी को गोल में बदलने में कामयाब नहीं हो पाए. मैच के अंतिम 10 मिनट में अर्जेटीना ने गोल करने के कई मौके बनाए लेकिन हैल्डोरसल शानदार बचाव करते हुए अपनी टीम को एक अंक दिलाने में कामयाब रहे. मेसी ने फ्रीकिक के रूप में अंतिम प्रयास किया लेकिन किस्मत उनके साथ नहीं थी. अर्जेंटीना ग्रुप-डी के अपने अगले मुकाबले में गुरुवार को क्रोएशिया का सामना करेगी जबकि आइसलैंड का मुकाबला नाइजीरिया से होगा.