क्रिकेट फैन्स को इन दिनों दुनिया के महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) के बेटे अर्जुन (Arjun Tendulkar) का खेल देखने के लिए ललाहित रहते हैं. मुंबई की अंडर 14, 16 और अंडर 19 टीम में खेल चुके इस युवा तेज गेंदबाज ने शुक्रवार को मुंबई की सीनियर टीम के लिए अपना डेब्यू कर लिया. इसके बाद अटकलें लगाई जा रही हैं अर्जुन इस सीजन आईपीएल (IPL 2021) में भी भाग लेते दिख सकते हैं और संभव है कि इस बार वह आईपीएल नीलामी के लिए अपना नाम दें.Also Read - Arjun Tendulkar को क्‍यों दी गई मुंबई की रणजी टीम में जगह ? MCA के मुख्‍य चयनकर्ता ने दी सफाई

अर्जुन ने सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी (Syed Mushtaq Ali Trophy) में मुंबई की सीनियर टीम के लिए अपने करियर की शुरुआत की है. हालांकि हरियाणा के खिलाफ खेलने उतरी मुंबई इस मैच में भी हार गई. मुंबई की टीम अपने घर पर एलीट ग्रुप (Elite Group) E में यह अपना तीसरा मैच खेल रही है. आज उसने अपने अपने प्लेइंग XI में अर्जुन को मौका दिया था. इस टूर्नामेंट में इस सीजन यह मुंबई का तीसरा मैच था लेकिन वह इस बार भी जीत हासिल नहीं कर पाई. Also Read - Ranji Trophy 2021-22: Sachin Tendulkar के बेटे अर्जुन को पहली बार मिला टीम में मौका

Also Read - सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में खराब प्रदर्शन के बाद Krunal Pandya ने छोड़ी बड़ौदा की कमान

मुंबई की टीम को इससे पहले दिल्ली और केरल के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था. इस ग्रुप के सभी मैच मुंबई के वानखेड़े मैदान पर खेले जा रहे हैं. इसके बावजूद मुंबई का इस साल प्रदर्शन काफी खराब चल रहा है. बाएं हाथ के तेज गेंदबाज अर्जुन से मुंबई को आज करिश्माई परफॉर्मेंस की उम्मीद थी. लेकिन वह अपने पहले ही मैच में कुछ दम नहीं दिखा पाए.

अर्जुन को 11वें नंबर पर बल्लेबाजी करने का मौका मिला. हालांकि वह बिना कोई गेंद खेले ही मैदान से लौट आए. क्योंकि सामने वाले छोर से मुंबई की टीम ने 143 के स्कोर पर अपना 10वां विकेट भी गंवा दिया था.

हरियाणा को 144 रन का लक्ष्य मिला था और अर्जुन को मुंबई के कप्तान सूर्यकुमार यादव ने अपने दूसरे गेंदबाज के रूप में मौका दिया. हालांकि उन्होंने अपने दूसरे ओवर की पहली ही गेंद पर चैतन्य विश्नोई (4) विकेटकीपर आदित्य तारे के हाथों कैच आउट जरूर कराया लेकिन इसके बाद वह कोई और सफलता हासिल नहीं कर पाए. अर्जुन ने 3 ओवर की बॉलिंग में सबसे ज्यादा 34 रन खर्च किए. हरियाणा ने यह मैच 14 बॉल शेष रहते 8 विकेट से अपने नाम कर लिया.