नई दिल्ली. सचिन तेंदुलकर के बेटे अर्जुन तेंदुलकर ने मुंबई T20 लीग से अपना नाम वापस ले लिया है. पहले अर्जुन इस लीग का हिस्सा थे लेकिन अब उन्होंने ये कहते हुए अपना नाम वापस ले लिया है कि वो अभी इसके लिए तैयार नहीं हैं. कहा जा रहा है कि अर्जुन तेंदुलकर ने यह फैसला अपने पिता और महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर की सलाह पर लिया है. Also Read - महान फुटबॉलर मारडोना के निधन से क्रिकेट जगत में शोक; सौरव गांगुली ने कहा- मेरा हीरो नहीं रहा

अर्जुन का अचानक लीग से नाम वापस लेना इस लीग के आयोजकों को भी रास नहीं आ रहा है. दरअसल, मुंबई के कुछ खिलाड़ी अलग-अलग टूर्नामेंट्स में खेलने में व्यस्त हैं . अब ऐसे में अर्जुन का भी इस लीग से बाहर हो जाना आयोजकों के लिए टेंशन की वजह बन गया है. Also Read - India vs Australia 2020-21: Sachin Tendulkar और MS Dhoni के इस रिकॉर्ड की बराबरी करना चाहेंगे Virat Kohli

बता दें कि सचिन तेंदुलकर मुंबई T20 लीग के ब्रांड एंबेस्डर हैं और वो पहले कह चुके हैं कि ऐसी लीग की राज्य के युवाओं को काफी जरुरत थी क्योंकि इससे युवाओं को अपनी प्रतिभा दिखाने का मौका मिलेगा. सचिन ने लीग के बारे में कहा था, ‘‘मेरा मानना है कि इस तरह की चीज की मुंबई क्रिकेट को जरूरत थी. मुंबई क्रिकेट ने हमेशा भारतीय क्रिकेट की अगुआई की है और आंकड़े इसका सबसे बड़ा सबूत हैं. मुझे इस लीग का हिस्सा बनने की खुशी है.’’ Also Read - Kapil Dev ODI-XI : धोनी करेंगे कप्‍तानी, सचिन-सहवाग पर ओपनिंग की जिम्‍मेदारी, ये बड़े नाम नदारद

सचिन का T20 मुंबई लीग को इतना महत्व देना और अपने बेटे को लीग से दूर रखना लोगों को हैरान कर रहा है. हो सकता है कि इसकी खास वजह अर्जुन की इंजरी हो, जिससे वो पिछले 1 साल से परेशान रहे हैं. कहा ये भी जा रहा है कि सचिन तेंदुलकर अपने बेटे के लिए लंबी योजना पर काम कर रहे हैं, इसलिए हो सकता है कि उन्होंने अर्जुन के लिए मुंबई T20 लीग को उतना महत्वपूर्ण नहीं समझा. मुंबई T20 लीग 11 मार्च से लेकर 21 मार्च तक खेला जाना है.

बता दें कि मुंबई T20 लीग की तारीफ सिर्फ सचिन ही नहीं बल्कि टीम इंडिया के ओपनर रोहित शर्मा भी कर चुके हैं.

 

अर्जुन तेंदुलकर एक बॉलिंग ऑलराउंडर के तैर पर उभरते हुए क्रिकेटर हैं, जो कि हर मैच के साथ बेहतर हो रहे हैं. हाल ही में उन्होंने आस्ट्रलिया में स्प्रिट ऑफ ग्लोबल चैलैंज में भाग लेते हुए सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर गेंद और बल्ले दोनों से शानदार प्रदर्शन किया है.