लीड्स: बेन स्टोक्स के शानदार शतक (135 रन, 11 चौक, 8 छक्के) की बदौलत एशेज श्रृंखला के तीसरे टेस्ट मैच में इंग्लैंड ने आस्ट्रेलिया को एक विकेट से हरा दिया. जीत के लिए 359 रन के लक्ष्य का पीछा कर रहे इंग्लैंड की ओर से लगातार विकेट गिरते रहे, लेकिन बेन स्टोक्स ने एक छोर संभाले रखा और इंग्लैंड को जीत दिला दी. इस जीत के बाद इंग्लैंड ने पांच मैचों की एशेज टेस्ट सीरीज में 1-1 की बराबरी हासिल कर ली है. सीरीज का पहला मैच आस्ट्रेलिया ने 251 रनों से जीता था जबकि दूसरा मैच ड्रॉ रहा था.

 

रविवार को इंग्लैंड ने दिन की शुरूआत तीन विकेट पर 156 रन से आगे से की लेकिन कल के नाबाद बल्लेबाज कप्तान जो रूट सिर्फ दो रन जोड़ कर 77 के स्कोर पर पवेलियन लौट गये. आफ स्पिनर नाथन लियोन की गेंद पर स्लीप में खड़े डेविड वार्नर ने शानदार कैच लपककर 205 गेंद की उनकी पारी का अंत किया. इसके बाद स्टोक्स और बेयरस्टा ने टीम को लंच तक कोई और क्षति नहीं पहुंचने दी. लंच के बाद बेयरस्टा 36 के निजी स्कोर पर आउट हो गए. इसके बाद बेन स्टोक्स ने जुझारू पारी (135 रन, 11 चौक, 8 छक्के) खेलते हुए इंग्लैंड को जीत दिलाई. स्टोक्स ने अपनी पारी में कुल 11 चौके और 8 छक्के मारे.

 

बता दें कि हेडिंग्ले के मैदान पर सिर्फ तीन बार किसी टीम का चौथी पारी में 300 से ज्यादा रन का लक्ष्य हासिल करने का रिकार्ड है. आस्ट्रेलिया (1948 में तीन विकेट पर 404), इंग्लैंड (2001 में चार विकेट पर 315 रन) और वेस्टइंडीज ने दो साल पहले पांच विकेट पर 322 रन बनाये थे. आस्ट्रेलिया की पहली पारी में 179 रन के जवाब में इंग्लैंड की पहली पारी मात्र 67 रन पर सिमट गयी थी. जो पिछले 71 साल में एशेज में उसका न्यूनतम स्कोर है. आस्ट्रेलिया ने दूसरी पारी में 246 रन बनाये.