एशेज 2019: ऑस्ट्रेलिया के टॉप आर्डर बल्लेबाज स्टीवन स्मिथ ने एशेज मुकाबले के चौथे टेस्ट मैच की पहली पारी में दोहरा शतक जड़कर अपने वापसी का ऐलान कर दिया है. मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड में चल रहे एशेज श्रृंखला में स्मिथ की इस शानदार पारी ने ऑस्ट्रेलिया को एक मजबूत स्थिति में लाकर खड़ा कर दिया. दूसरे दिन ऑस्ट्रेलिया ने 497 रनों पर अपनी पारी घोषित कर दी और स्टंप्स के वक्त तक इंग्लैंड ने 1 विकेट के नुकसान पर 23 रन बना लिए थे.

स्मिथ ने अपने अब तक के करियर में बहुत कुछ देखा है. 2018 में बॉल टैम्परिंग के मामले में एक साल का बैन झेलकर स्मिथ ने पिछले महीने ही टेस्ट क्रिकेट में वापसी की है. ऑस्ट्रेलिया के इस घातक बल्लेबाज ने आते ही तीन मैचों में तीन शतक ठोक डाले हैं.  चल रहे एशेज सीरीज में स्मिथ ने पहले टेस्ट में 144 और 142 रनों की पारियां खेली थी, दूसरे टेस्ट मैच में शतक के करीब पहुंच कर 92 रन ही बना सकें. इस मैच में जोफ्रा आर्चर की बाउंसर का शिकार हुए स्मिथ को गहरी चोट का सामना करना पड़ा और तीसरे टेस्ट में उन्हें आराम दिया गया. इस खिलाड़ी ने अपने जज्बे को बरकरार रखते हुए चौथे टेस्ट में वापसी की और पहली पारी में ही दोहरा शतक जड़ कर अपनी कौशलता का प्रमाण दे दिया.

स्मिथ के दोहरे शतक के बाद दुनियाभर के कई दिगज्जों ने उन्हें मुबारकबाद दिया. ‘मास्टर ब्लास्टर’ सचिन तेंदुलकर ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘कॉम्लीकेटेड टेक्नीक, लेकिन सुलझा हुआ दिमाग स्टीवन स्मिथ को दूसरों से अलग बनाता है. असाधारण वापसी.’

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन ने स्मिथ की पारी से प्रभावित होकर लिखा, ‘अब कुछ और नहीं. बस स्मिथ के लिए तारीफ निकलती है. हम एक महान बल्लेबाज को देख रहे हैं.’

यही नहीं, इस शानदार पारी को सराहते हुए ऑस्ट्रेलिया के ब्रैड हॉज ने लिखा, ‘स्मिथ ने सैंडपेपर को हाथ भी नहीं लगाया था. फिर भी उन्होंने टीम लीडर के नाते दूसरों की बेवकूफियों की जिम्मेदारी भी ली. बदनामी के बाद वापसी करने के लिए साहस और मानसिक मजबूती चाहिए.’

स्मिथ के इस फॉर्म को देखते हुए ये अनुमान लगाया जा सकता है कि ऑस्ट्रेलिया के लिए अब आगे का रास्ता बहुत आसान होने वाला हैं.