नई दिल्ली. एशिया कप में रवींद्र जडेजा ने दमदार वापसी की. हार्दिक पांड्या और अक्षर पटेल की इंजरी ने मौका बनाया, जिसे जडेजा ने दोनों हाथों से लपकते हुए वनडे टीम में अपनी जोरदार कमबैक की स्क्रिप्ट लिखी. अब जडेजा की ही तरह आश्विन भी वनडे टीम में वापसी को बेकरार हैं. अश्विन ने एक इंटरव्यू में वनडे टीम में वापसी करने की ओर इशारा किया है.

वनडे में मौके की तलाश-अश्विन

अश्विन ने कहा, ‘कुलदीप यादव और चहल ने शानदार प्रदर्शन किया. आपको उनकी तारीफ करनी होगी. टीम में प्रतिस्पर्धा होना बेहद जरूरी है. दुनिया की ऐसी कितनी टीमें हैं जो मेरे और जडेजा जैसे स्पिनर को वनडे टीम से बाहर रख पाएंगी, लेकिन भारत के पास इतने प्रतिभावान स्पिनर्स हैं. उन्होंने अपने मौकों को भुनाया है. लेकिन मैं दरवाजे के पीछे खड़े होकर मौके का इंतजार कर रहा हूं. जैसा ही मौका आएगा मुझे उसके लिए तैयार रहना होगा.’

खत्म नहीं हुआ उंगलियों का जादू

अश्विन वनडे, टी20 में उंगलियों से गेंद टर्न कराने वाले स्पिनर्स की उपयोगिता कम होने की बात से भी इत्तेफाक नहीं रखते. अश्विन के मुताबिक, ‘मोइन अली अपनी ऑफ स्पिन से अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं. एशिया कप में भी फिंगर स्पिनर्स ने अच्छा प्रदर्शन किया है. मुजीब, जडेजा, अकिला धनंजय, मेहदी हसन जैसे गेंदबाजों ने अच्छा प्रदर्शन किया. क्रिकेट के मौजूदा दौर में लोग मिडिल ओवरों में विकेट लेने की बात कह रहे हैं, लेकिन ये दो धारी तलवार की तरह है. एक दिन सही है, लेकिन कभी ये काम नहीं करता. आप अगर 85 रन देकर 3 विकेट लेंगे तो मेरे मुताबिक 45 रन देकर एक विकेट लेना ज्यादा अहम होगा. क्योंकि मेरे लिए 40 रन अहम होंगे.’