एशिया कप में करो या मरो मुकाबले में पाकिस्‍तान को हार का मुंह देखना पड़ा।एशिया कप के आठवें मैच में रोमांचक मुकाबले में बांग्लादेश ने पाकिस्तान को पांच विकेट से हराकर फाइनल में जगह बना ली है। पाकिस्तान ने पहले खेलते हुए बांग्लादेश के सामने 130 रनों का लक्ष्य रखा था, जिसे बांग्लादेश ने 19.1 ओवर में पांच विकेट खोकर हासिल कर लिया। एशिया कप का फाइनल छह मार्च को भारत और बांग्लादेश के बीच खेला जाएगा।

पहली बार एशिया कप का आयोजन टी-20 फारमेट में किया जा रहा है। बांग्लादेश ने 18 ओवर में 112 रन बना लिये थे, उसे जीत के लिये 12 गेंद में 18 रन चाहिए थे। महमूदुल्लाह (नाबाद 22) और मशरफे मुर्तजा (नाबाद 12) क्रीज पर थे। 19वें ओवर में मोहम्मद समी की गेंदों पर 1, 1, 1, 2 (नोबॉल), 1, 2, 4 (नोबाल), 1 से 15 रन बने। जिससे उन्हें जीत के लिये अंतिम ओवर में केवल तीन रन चाहिए थे। 20वें ओवर की पहली गेंद पर महमूदुल्लाह के चौके से स्टेडियम में बैठे दर्शक खुशी से झूमने लगे। यह भी पढ़े-एशिया कप: बांग्लादेश ने पाकिस्तान को 5 विकेट से हराया

लक्ष्य का पीछा करने उतरी बांग्लादेश की शुरुआत खराब रही। मोहम्मद इरफान ने तमीम इकबाल को 13 के कुल स्कोर पर आउट कर बांग्लादेश को पहला झटका दिया। इसके बाद सौम्य सरकार (48) ने शब्बीर रहमान (14) के साथ दूसरे विकेट के लिए 33 रनों की साझेदारी कर टीम को संभाला।

शब्बीर 46 के कुल स्कोर पर शाहिद अफरीदी का शिकर बने। सरकार अपने अर्धशतक से दो रन से चूक गए और 83 के कुल स्कोर पर पवेलियन लौटे। उन्होंने अपनी पारी में 48 गेंदों का सामना करते हुए पांच चौके और एक छक्का लगाया। सरकार को मैन ऑफ द मैच चुना गया।

मुस्ताफिकुर रहीम (12) खास योगदान नहीं दे पाए और 88 के कुल स्कोर पर पवेलियन लौटे। बांग्लादेश की जीत की उम्मीदें शाकिब अल हसन (8) पर टिकीं थी, लेकिन मोहम्मद आमिर ने उन्हें बोल्ड कर बांग्लादेश की उम्मीदों को झटका दिया। यह भी पढ़े-एशिया कप 2016: भारत आज संयुक्त अरब अमीरात से भिड़ेगा

इसके बाद आए कप्तान मशरफे मुर्तजा (नाबाद 12) और महमदुल्लाह (22) ने अंतिम ओवरों में पाकिस्तान के गेंदबाजों की धुनाई करते हुए टीम को पांच गेंद पहले जीत दिला कर फाइनल का टिकट पक्का किया। इससे पहले टॉस जीतकर पहले खेलते हुए पाकिस्तान ने सरफराज अहमद (नाबाद 58) के अर्धशतक की बदौलत निर्धारित 20 ओवर में सात विकेट खोकर 129 रन बनाए थे।

सरफराज के अलावा शोएब मलिक ने 41 रनों का योगदान दिया। बांग्लादेश की तरफ से सबसे ज्यादा तीन विकेट अल अमीन हुसैन ने लिए। पाकिस्तान की शुरुआत बेहद खराब रही। टीम 28 रन पर अपने चार विकेट गंवा चुकी थी। इसके बाद सरफराज ने शोएब के साथ पांचवें विकेट के लिए 70 रनों की साझेदारी कर टीम को संभाला।

अंतिम ओवरों में सरफराज ने टीम को सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया। इसमें उन्हें अनवर अली (13) का सहयोग मिला जो पारी की अंतिम गेंद पर आउट हुए। सरफराज नाबाद पवेलियन लौटे। उन्होंने अपनी पारी में 42 गेंदों का सामना करते हुए पांच चौके और दो छक्के लगाए।