नई दिल्ली. एसएस धोनी का बल्ला इस साल अब तक कुछ खास कमाल नहीं कर सका है. बल्ले से उनके रनों के यही बेरुखी हांगकांग के खिलाफ एशिया कप के पहले मुकाबले में भी देखने को मिली. इस मुकाबले में उन्होंने 3 गेंदों का सामना किया और बिना खाता खोले पवेलियन लौट गए. धोनी का विकेट ऑफ स्पिनर एहसान खान ने लिया, जिनकी बाहर जाती गेंद को धोनी ने छेड़ने की कोशिश की और गेंद विकेटकीपर के दस्तानों में समा गई. धोनी को आउट करने के बाद एहसान खान की खुशी का ठिकाना नहीं रहा और इस खुशी के मारे उन्होंने विकेट को चूम लिया.

pjimage (11)

ये 9वीं बार है जब धोनी शून्य पर आउट हुए हैं. वही 2 साल बाद ऐसा हुआ है जब वो वनडे क्रिकेट में खाता नहीं खोल सके हैं. इससे पहले साल 2016 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ धोनी बिना खाता खोले पवेलियन लौटे थे. बहरहाल, हांगकांग के खिलाफमिले इस शून्य ने उन्हें ट्विटर पर ट्रोल कर दिया है. जहां किसी ने इसे पाकिस्तान के खिलाफ बड़े मुकाबले से पहले उनकी स्ट्रेटजी का हिस्सा बताया तो किसी के मुताबिक वो ऐसा कर पाकिस्तान के खिलाफ मुकाबले के लिए अपनी एनर्जी बचा रहे हैं.


साल 2018 में एमएस धोनी का स्ट्राइक रेट करियर के सबसे नीचले स्तर पर रहा है. इस साल धोनी ने केवल 70.47 के स्ट्राइक रेट से रन बनाए हैं.