भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कुछ दिन पहले इस बात की घोषणा की थी कि एशिया कप 2020 का आयोजन दुबई में किया जाएगा जिसमें भारत और पाकिस्तान की टीमें हिस्सा लेंगी. इस बयान के आने के बाद पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने यह साफ किया था कि अब तक टूर्नामेंट के आयोजन को लेकर एशियाई क्रिकेट काउंसिल ने कोई फैसला नहीं लिया है. लेकिन अब पीसीबी प्रमुख एहसान मनी ने भी गांगुली के बयान का समर्थन किया है. Also Read - कोविड-19: यूपीसीए और केरल क्रिकेट संघ ने 50-50 लाख रुपए का दान देने का ऐलान किया

इंग्लैंड की ओपनर ने ऑस्ट्रेलिया को बताया शेफाली वर्मा को जल्दी आउट करने का फॉर्मूला Also Read - कोरोनावायरस महामारी के कारण रद्द होगा IPL 2020 : रिपोर्ट

मनी ने हालांकि कुछ दिन पहले गांगुली के इस बयान पर असहमति जताई थी कि भारत सुरक्षा कारणों से पाकिस्तान में नहीं खेल सकता है और इसलिए एशिया कप यूएई में खेला जाएगा. मनी ने शनिवार को अपने पिछली टिप्प्णी से ठीक उलट बयान दिया. Also Read - COVID-19: कोहली एंड कंपनी का ऑस्ट्रेलिया दौरा अधर में, ये है वजह

उन्होंने इस्लामाबाद में पत्रकारों से कहा, ‘हमें एशियाई क्रिकेट परिषद (एसीसी) के एसोसिएट सदस्यों के हितों को ध्यान में रखना होगा. हम पाकिस्तान में टूर्नामेंट के मेजबानी करने को लेकर अड़े नहीं रह सकते हैं क्योंकि भारत पाकिस्तान आने को तैयार नहीं है. विकल्प यही है कि इसे तटस्थ स्थल पर आयोजित किया जाएगा लेकिन इस पर एसीसी को फैसला करना है.’

ICC Women’s T20 World Cup 2020, Final: जानिए कब और कहां देखें भारत-ऑस्ट्रेलिया फाइनल मुकाबला

गांगुली ने कहा था कि भारत को 2018 में टूर्नामेंट की मेजबानी करनी थी लेकिन यह यूएई में खेला गया क्योंकि पाकिस्तान भारत में नहीं खेलना चाहता था. मनी से पूछा गया कि क्या एशिया कप सितंबर में खेला जाएगा उन्होंने कहा कि इसका फैसला एसीसी को इस महीने के आखिर में होने वाली बैठक में करना है. बकौल मनी, ‘ अभी कोई फैसला नहीं किया गया है कि इसे यूएई या बांग्लादेश में आयोजित किया जाएगा.’