चीन ने एशियन बास्केटबॉल चैम्पियनशिप के सेमीफाइनल मुकाबले में शुक्रवार को गत चैम्पियन ईरान को 70-57 से हरा दिया।चीनी टीम अब फाइनल मुकाबले में शनिवार को फिलीपींस से भिड़ेगी।Also Read - शिवसेना का निशाना, कहा- BJP को चीन की ‘घुसपैठ’ के बारे में भी बोलना चाहिए, ना कि सिर्फ पाकिस्तान के बारे में

सेमीफाइनल मुकाबले में फिलीपींस के खिलाफ चीन का बचाव शानदार रहा। पिछले चार वर्षो में तीन बार चैम्पियन रह चुकी ईरान की टीम का चीन के खिलाफ फील्ड गोल पर्सेटेज सिर्फ 29 फीसदी रहा। Also Read - India-China की 14वें दौर की सैन्‍य कमांडर स्‍तर की वार्ता विफल, लेकिन दोनों देश आगे बातचीत पर सहमत

पहले संघर्षपूर्ण क्वार्टर में चीन ने ईरान को सिर्फ 12 अंक लेने दिए और 21-12 से बढ़त ले ली। मध्यांतर तक चीन 39-29 से अपनी बढ़त कायम रखने में सफल रहा। Also Read - पश्चिमी मोर्चे पर पड़ोसी पाकिस्‍तान के मंसूबे उजागर, उत्‍तरी में चीन के लिए हमने मजबूत तैयारी की है: आर्मी चीफ

मध्यांतर के बाद चीन ने अपनी आक्रामकता बढ़ाई। एनबीए में खेल चुके यी जिलियन के थ्री प्वाइंटर और एक हाथ से लगाए स्लैम डंक से हासिल दो अंकों के जरिए तीसरे क्वार्टर में एक समय चीन ने ईरान पर 16 अंकों की बढ़त हासिल कर ली थी।

ईरान के लिए इस बीच शानदार प्रदर्शन कर रहे इहादादी ने लगातार छह अंक जुटाते हुए चीन से अंकों का अंतर काफी कम कर लिया। हालांकि चीन बढ़त के साथ चौथे क्वार्टर में प्रवेश करने में सफल रहा और अंतत: 70-57 से विजेता रहा।

चीन के लिए यी जियायिान ने सर्वाधिक 13 अंक जुटाए और आठ रीबाउंड हासिल किए। वहीं इहादादी ने 16 अंक जुटाए और 11 रीबाउंड हासिल किए, जबकि बहरमी ने 18 अंक जुटाए, हालांकि वे ईरान को जीत नहीं दिला सके।

मैच के बाद चीन के मुख्य कोच गोंग लूमिंग ने कहा, “आज (शुक्रवार) का मैच खत्म हो चुका है। हम अभी भी चैम्पियन नहीं बने हैं, जिसके लिए हमें अभी एक मैच और जीतना है।”

चीन यदि शनिवार को फिलीपींस के खिलाफ खिताबी जीत हासिल कर लेता है तो वह अगले वर्ष होने वाले रियो ओलम्पिक के लिए भी क्वालीफाई कर लेगा।