नई दिल्ली. भारतीय हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह ने कहा कि एशियाई चैम्पियंस ट्राफी से न सिर्फ एशियाई खेलों में की गई गलतियों को दुरूस्त करने का मौका मिलेगा बल्कि आने वाले विश्व कप की तैयारी का भी सुनहरा मौका मिलेगा. भारत को एशियाई खेलों के सेमीफाइनल में मलेशिया ने हराया लेकिन भारत ने चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान को हराकर कांस्य पदक जीता.

मनप्रीत ने ओमान में होने वाली एशियाई चैम्पियंस ट्राफी के लिये रवाना होने से पहले कहा ,‘‘ हम एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक नहीं जीत सके लेकिन अब नये सिरे से तरोताजा होकर भुवनेश्वर में होने वाले विश्व कप की तैयारी करनी है .’’  दुनिया की पांचवें नंबर की टीम भारत गुरूवार को ओमान से पहला मैच खेलेगी.

भारत को चुनौती मलेशिया, पाकिस्तान, दक्षिण कोरिया और एशियाई खेलों की स्वर्ण पदक विजेता जापान से मिलेगी.  भारत ने 2016 में पाकिस्तान को हराकर खिताब जीता था .

बता दें कि हॉकी का वर्ल्ड कप भारत में ही खेला जाना है. इस बड़े टूर्नामेंट का आयोजन उड़ीसा के भुवनेश्वर में होगा, जहां खास तौर पर कलिंगा स्टेडियम का निर्माण किया गया है.