जकार्ता: गत चैंपियन भारत एकतरफा मुकाबले में श्रीलंका को 20-0 से हराकर पूल चरण में अजेय रहा जिसके बाद एशियाई खेलों की पुरुष हाकी स्पर्धा के सेमीफाइनल में उसकी भिड़ंत मलेशिया से होगी. पूल चरण में भारतीय टीम ने शानदार प्रदर्शन करते हुए 76 गोल दागे जबकि उसके खिलाफ सिर्फ तीन गोल हुए.

दुनिया की 38वें नंबर की टीम श्रीलंका के खिलाफ पांचवें नंबर की टीम भारत की आसान जीत की उम्मीद की जा रही थी और गत चैंपियन टीम उम्मीदों पर खरी उतरी. भारत की ओर से आकाशदीप सिंह (नौवें, 11वें, 17वें, 22वें, 32वें और 42वें मिनट) ने छह जबकि 200वां अंतरराष्ट्रीय मैच खेल रहे रूपिंदर पाल सिंह (पहले, 52वें और 53वें मिनट), हरमनप्रीत सिंह (पांचवें, 21वें और 33वें मिनट) और मनदीप सिंह (35वें, 43वें और 59वें मिनट) ने तीन-तीन गोल दागे.

एशियन गेम्स 2018: भारत को झटका, 200 मीटर रेस में हिमा दास डिसक्वालीफाई होकर बाहर

इसके अलावा ललित उपाध्याय (57वें और 58वें मिनट) ने दो जबकि विवेक सागर प्रसाद (31वें मिनट), अमित रोहिदास (38वें मिनट) और दिलप्रीत सिंह (53वें मिनट) ने एक-एक गोल किया. भारत अपने पांचों मैच जीतकर पूल ए में शीर्ष पर रहा और वह गुरुवार को पहले सेमीफाइनल में पूल बी में दूसरे नंबर पर रहने वाली टीम मलेशिया से भिड़ेगा.

तीरंदाजी में मेडल मिला, लेकिन रजत के लिए पांचवीं कोशिश में 12वीं पास करना सबसे महत्‍वपूर्ण

भारतीय टीम पहले ही सेमीफाइनल में जगह बना चुकी थी लेकिन आज श्रीलंका के खिलाफ औपचारिकता के मैच में भी टीम ने कोई कसर नहीं छोड़ी. भारत के दबदबे का अंदाजा इस बात से लग सकता है कि श्रीलंका की टीम भारतीय गोल पर एक भी निशाना नहीं लगा सकी.

Asian Games 2018: साल का तीसरा फाइनल हारीं पीवी सिंधू, सिल्वर से करना पड़ा संतोष

दूसरी तरफ भारतीय टीम ने श्रीलंका के खिलाफ गोल के लिए 46 शॉट लगाए और इनमें से 20 लक्ष्य पर रहे. भारत के दबदबे का अंदाज इस बात से लग सकता है कि भारतीय टीम अंतिम 10 मिनट में बिना गोलकीपर के अतिरिक्त मैदानी खिलाड़ी के साथ खेली और इसका टीम को फायदा भी मिला. भारत ने अंतिम 10 मिनट में छह गोल दागे.

महिला हाकी के सेमीफाइनल में पिछली बार के कांस्य पदक विजेता भारत का सामना बुधवार को पिछली बार के उप विजेता चीन से होगा. गत चैंपियन कोरिया की टीम सेमीफाइनल में जापान से खेलेगी.