एशियाई वेटलिफ्टिंग चैंपियनशिप (AWC 2021) के 45 किलोग्राम भार वर्ग में भारत की झिली डालाबेहड़ा (Jhilli Dalabehera) ने रविवार को गोल्ड मेडल अपने नाम किया. इस प्रतियोगिता में सिर्फ दो ही भारोत्तोलकों ने भाग लिया था. जूनियर विश्व चैम्पियनशिप की कांस्य पदक विजेता झिली ने स्नैच में 69 किग्रा और इसके बाद क्लीन एवं जर्क में 88 किग्रा का वजन उठाया. वह गोल्ड स्तर की ओलंपिक क्वॉलीफायर प्रतियोगिता में कुल 157 किग्रा का वजन उठाकर तीनों वर्गों में पोडियम में शीर्ष स्थान पर रहीं.Also Read - Commonwealth Games: Mirabai Chanu को झटका, 55 किलो भारवर्ग में नहीं कर पाएंगी एंट्री

इस प्रतियोगिता को पिछले साल महामारी के कारण स्थगित कर दिया गया था. हालांकि 45 किग्रा ओलंपिक वजन वर्ग नहीं है. इस स्पर्धा का रजत पदक फिलीपींस की मैरी फ्लोर डायज ने 135 किग्रा (60 किग्रा और 75 किग्रा) का वजन उठाकर हासिल किया. इस जीत से झिली ने पिछले चरण में अपने सिल्वर मेडल के प्रदर्शन में सुधार किया. हालांकि 2019 चरण में उनका प्रदर्शन शानदार रहा था, जिसमें उन्होंने 162 किग्रा (71 किग्रा और 91 किग्रा) का भार उठाया था. Also Read - भारत की मीराबाई चानू को मिला ‘बीबीसी वर्ष की सर्वश्रेष्ठ महिला खिलाड़ी’ पुरस्कार

वहीं एक अन्य भारतीय भारोत्तोलक स्नेहा सोरेन महिलाओं की 55 किग्रा स्पर्धा में ग्रुप बी में तीसरे स्थान पर रहीं. ओडिशा की इस 20 साल की भारोत्तोलक ने कुल 164 किग्रा (71 किग्रा और 93 किग्रा) का वजन उठाया जिस ग्रुप में चार महिला खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया. स्नेहा 68 किग्रा और 71 किग्रा का वजन उठाने के बाद अपने अंतिम स्नैच प्रयास में 73 किग्रा उठाने में असफल रहीं. Also Read - Mirabai Chanu ने जीता गोल्ड, बर्मिंघम कॉमनवेल्थ गेम्स में किया क्वॉलीफाई

क्लीन एवं जर्क में उन्होंने अपने पहले प्रयास में 93 किग्रा का वजन उठाया लेकिन इसके बाद वह 98 किग्रा और 100 किग्रा उठाने में असफल रहीं. तालिका में उनका स्थान ग्रुप ए की स्पर्धा खत्म होने के बाद ही तय होगा. इससे पहले झिली का स्वर्ण टूर्नामेंट में भारत का दूसरा पदक था.

स्टार भारोत्तोलक मीराबाई चानू ने शनिवार को क्लीन एवं जर्क वर्ग में वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाते हुए कांस्य पदक जीता था. ओलंपिक के लिए क्वॉलीफाई करने वाली चानू ने स्नैच में 86 किग्रा का भार उठाया. उन्होंने क्लीन एवं जर्क में 119 किग्रा के विश्व रिकॉर्ड से कुल 205 किग्रा का वजन उठाया जो उनका व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन भी रहा.

-भाषा