नई दिल्ली. एशियन रेसलिंग चैम्पियनशिप में भारत की महिला पहलवान नवजोत कौर ने गोल्डन दांव लगाते हुए इतिहास रच दिया है. नवजोत ने 65 किलोग्राम कैटेगरी में सुनहरी जीत हासिल की है. फाइनल मुकाबले में अपने जोरदार दांवों से भारतीय पहलवान नवजोत ने जापान की मिया इमाई को 9-1 से चित्त करते हुए सोने का तमगा हासिल किया. एशियाई रेसलिंग चैम्पियनशिप में गोल्ड मेडल जीतने वाली नवजोत भारत की पहली महिला पहलवान हैं. Also Read - पहलवान विनेश फोगाट ने क्यों कहा- हमें निराशा में आशा की किरण तलाशनी होगी, जानिए वजह

 

 

चैम्पियनशिप में सोने का तमगा हासिल करने के बाद नवजोत की आंखें नम हो गई. खुशी के मारे उनके आंसू छलक पड़े. उनकी जीत के बाद पूरा भारतीय खेमें में जश्न का माहौल था, जो कि होना लाजमी भी था. बता दें कि ये इस चैम्पियनशिप में भारत का पहला गोल्ड मेडल भी है.


 साक्षी मलिक को ब्रॉन्ज

नवजोत कौर के अलावा इस एशियाई रेसलिंग चैम्पियनशिप में निगाहें साक्षी मलिक पर भी थी. रियो ओलंपिक की ब्रॉन्ज मेडलिस्ट साक्षी मलिक ने 62 किलोग्राम कैटेगरी में ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया. साक्षी ने 62 किलोग्राम फ्रीस्टाइल वर्ग में कजाकिस्तान की अयौलम केसीमोवा को 10-7 से हराया.

फोगाट बहनों का भी दिखा जलवा

एशियाई रेसलिंग में जलवा फोगाट बहनों का भी खूब दिखा. महिलाओं की 50 किग्रा भार वर्ग में विनेश फोगाट ने सिल्वर मेडल पक्का किया. फाइनल मुकाबले में विनेश को चीन की चून ली से 2-3 से हार का सामना करना पड़ा. विनेश के अलावा उनकी बहन संगीता फोगाट ने 59 केजी कैटेगरी ने रेपेचेज के जरिए ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया.