भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) के पूर्व बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण (VVS Laxman) ने विराट कोहली (Virat Kohli) की जमकर प्रशंसा की है. लक्ष्मण का कहना है कि कोहली जिस तरह से साल 2008 में डेब्यू में खेल रहे थे उसी ललक के साथ आज भी खेलते हैं. टीम इंडिया के कप्तान विराट ने ऑस्ट्रेलिया (India vs Australia 2020/21) के खिलाफ सीरीज के तीसरे और अंतिम वनडे के दौरान अपने 12 हजार रन भी पूरे किए. वह सबसे तेजी से इस मुकाम तक पहुंचने वाले बल्लेबाज बने. Also Read - Mohammed Siraj Fiancée: कौन है वो लड़की, जिससे शादी करेंगे भारतीय क्रिकेटर मोहम्मद सिराज, मंगेतर के बारे में खुद किया बड़ा खुलासा

कोहली ने 251 वनडे मैचों की 242 पारियों में 12000 रन पूरे किए हैं, जबकि सचिन ने 12000 रन बनाने के लिए कोहली से 58 पारी ज्यादा लिए थे. Also Read - भारत लौटकर Mohammed Siraj ने किया पिता को याद- बोले- मेरे सभी विकेट्स उन्हें समर्पित

लक्ष्मण ने एक शो में कहा, ‘हां, मुझे लगता है कि जिस तरह से वह प्रत्येक सीरीज में खेले हैं और जिस तरह की तीव्रता के साथ उन्होंने प्रत्येक दिन रन बनाए हैं, वह अविश्वसनीय है, क्योंकि किसी समय मैंने सोचा था कि विराट कोहली के लिए यह सबसे बड़ी चुनौती होगी. लेकिन एक बार भी हमने यह नहीं देखा कि जब विराट मैदान पर होते हैं तो उनकी ऊर्जा कम होती है, चाहे वो बल्लेबाजी कर रहे हों या फील्डिंग.’ Also Read - मैं नहीं चाहता कि MS Dhoni से हो मेरी तुलना, मैं खुद की पहचान बनाना चाहता हूं: Rishabh Pant

कोहली ने 70 इंटरनेशनल सेंचुरी लगाई है 

कोहली ने 86 टेस्ट में अब तक 7240 और 82 टी20 में 2794 रन बनाए हैं. उनके अब तक 70 अंतर्राष्ट्रीय शतक है, जिसमें 27 टेस्ट में और 43 वनडे में है.

लक्ष्मण ने कहा कि दबाव में बेहतर प्रदर्शन करने की कोहली की खास बात है.

उन्होंने कहा, ‘अगर आप उनके वनडे रिकॉर्ड को देखें तो पता चलता है कि उन्होंने रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए कितने शतक लगाए हैं. उनपर हमेशा दबाव में स्कोरबोर्ड को चलाते रहने का दबाव रहता है. लेकिन वह उस जिम्मेदारी को निभाते हैं और बेहतर तरीके से बाहर आते हैं.’ भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच 3 मैचों की सीरीज का पहला टी20 मैच शुक्रवार को कैनबरा में खेला जाएगा.