अब तक नस्लवाद के खिलाफ चल रहे अभियान ब्लैक लाइव्स मैटर (Black Lives Matter) अभियान के प्रति समर्थन दिखाने के लिए घुटने टेकने से बच रही ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम (Australia) भारत के खिलाफ वनडे सीरीज के पहले मैच के दौरान शुक्रवार को सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (SCG) पर नस्लवाद के खिलाफ नंगे पैर घेरा बनाकर (बेयरफुट सर्कल) अपना विरोध दर्ज कराएगी। Also Read - भारत से हार के बाद ऑस्ट्रेलिया पर फूटे Shane Warne, बोले- अब होंगे बड़े बदलाव

ऑस्ट्रेलियाई टीम जब इस साल इंग्लैंड दौरे पर गई थी, उसकी टीम ने नस्लवाद के विरोध को गंभीरता से नहीं लिया था और इसके लिए उसकी कड़ी आलोचना हुई थी। वेस्टइंडीज के दिग्गज तेज गेंदबाज माइकल होल्डिंग ने इंग्लैंड दौरे पर घुटने के बल बैठकर नस्लवाद का विरोध नहीं करने पर एरोन फिंच और इंग्लैंड के कप्तान इयोन मोर्गन को कड़ी फटकार लगाई थी। Also Read - भारत की एतिहासिक जीत के बाद CA ने BCCI को लिखा खुला पत्र, बोले- कभी नहीं भूल पाएंगे...

फिंच ने तब कहा था कि इसके लिए खास इशारों की जरूरत नहीं है। हालांकि अब ऑस्ट्रेलियाई नेतृत्वकर्ताओं ने नस्लवाद के खिलाफ नंगे पैर घेरा बनाकर (बेयरफुट सर्कल) अपना विरोध दर्ज कराने का फैसला किया है। Also Read - IND vs AUS: ऑस्ट्रेलिया की हार पर आई Ricky Ponting की प्रतिक्रिया, कही यह दर्दभरी बात

फिंच ने गुरुवार को मीडिया से कहा, “कप्तान के रूप में हमने बैठकर इस पर टीम के साथ बात की है। कई लोगों ने इसका समर्थन किया है। मुझे लगता है कि स्वदेशी लोगों से जुड़ने का ये एक अच्छा तरीका है। हमारे खेल और हमारे समाज में नस्लवाद के प्रति स्पष्ट रूप से शून्य सहिष्णुता है और वैसे भी ये होना चाहिए।”

फिंच ने कहा कि ब्लैक लाइव्स मैटर (BLM) आंदोलन से संबंधित ये कदम ना केवल लोगों को बल्कि पूरी टीम को इतिहास में हुई गलतियों के बारे में शिक्षित करेगा। उन्होंने कहा, “ये शिक्षित करने के बारे में है, खुद को और अपनी टीम को। हम ऑस्ट्रेलिया में पिछले 240 सालों में कथित अन्याय के बारे में बहुत कुछ सीखने की शुरुआत कर सकते हैं। मुझे लगता है कि मैं कुछ जागरूकता ला सकता हूं।”