मेलबर्न: मेलबर्न टेस्ट के पहले दो दिन ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज भारत की बैटिंग लाइनअप के सामने संघर्ष करते दिखे. कंगारू गेंदबाज करीब 170 ओवर की बॉलिंग के बाद भी भारतीय टीम को ऑल आउट नहीं कर सके. हालांकि, टीम के तेज गेंदबाज पैट कमिंस के प्रदर्शन की सबने तारीफ की. ऑस्ट्रेलियाई टीम भी यह मानती है कि कमिंस ही टीम के ‘संकटमोचक. हैं क्योंकि हमेशा जरूरत के समय टीम की मदद करते हैं.

ऑस्ट्रेलिया के सलामी बल्लेबाज एरॉन फिंच ने गुरुवार को अपनी टीम के तेज गेंदबाज पैट कमिंस की तारीफ करते हुए कहा कि उन्होंने हमेशा जरूरत पड़ने पर टीम की मदद की है. कमिंस ने मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड (एमसीजी) में खेले जा रहे तीसरे टेस्ट मैच में भारत के तीन बल्लेबाजों को आउट किया. इनमें मेहमान टीम की तरफ से शतक बनाने वाले बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा और पदार्पण कर रहे मयंक अग्रवाल (76) भी शमिल हैं.

मैच के बाद फिंच ने कमिंस के बारे में कहा, “मुझे लगता है कि पैट ने जिस तरह से वापस आकर बार-बार गेंदबाजी की है, उससे उनकी फिटनेस के बारे में पता चलता है.” कंगारू टीम के सलामी बल्लेबाज ने कहा, “पहले दो मैचों में शायद जिसके वह हकदार थे वह उन्हें हासिल नहीं हुआ, लेकिन आपने हर कोच को यह कहते हुए सुना होगा कि आप कई बार खराब गेंदबाजी करके भी ज्यादा विकेट ले सकते हैं.” फिंच ने कहा, “वह शानदार खिलाड़ी हैं. बल्लेबाज भी अच्छे हैं, गेंदबाजा भी और फील्डर भी. उन्होंने हालांकि एक कैच छोड़ा, लेकिन ऐसा होता रहता है. एक क्रिकेट खिलाड़ी के तौर पर वह शानदार हैं.”

रिकी पोंटिंग की एक और उलटबांसी, कहा- पुजारा की धीमी बैटिंग के चलते मेलबर्न टेस्ट हार सकता है भारत

फिंच ने अपनी टीम की गेंदबाजी ईकाई के बारे में बात करते हुए कहा, “गेंदबाजों ने काफी देर गेंदबाजी की. मुझे लगता है कि मिशेल मार्श का होना हमारे गेंदबाजी आक्रमण का अहम हिस्सा था. जिस तरह से उन्होंने रन रेट को नियंत्रण में किया वह शानदार था.” सीमित ओवरों में टीम के कप्तान ने कहा, “जितनी गेंदबाजी हमारे गेंदबाजों ने की खासकर दूसरे सत्र में, वह अच्छी थी. हमने मैच में अच्छी वापसी की.”

विदेशी पिचों पर रन बनाने में ‘किंग’ बने विराट कोहली, दूसरी पारी में बना सकते हैं ये वर्ल्ड रिकॉर्ड

विकेट के बारे में पूछा जाने पर फिंच ने कहा, “यह आस्ट्रेलिया की पारंपरिक विकेट नहीं है जहां आप तीन स्लिप और गली के साथ पूरे दिन गेंदबाजी कर सकते हैं. इस तरह की पिचों पर आपको अपनी रणनीति बनानी पड़ती है. आपको हालात का सामना करने के लिए तैयार रहना चाहिए ताकि आप अपनी रणनीति में जरूरत पड़ने पर बदलाव कर सकें और उसे अमलीजामा पहना सकें.” मैच के नतीजे के बारे में फिंच ने कहा, “अभी तक जो स्थिति है उसमें तीनों परिणाम- भारत की जीत, ऑस्ट्रेलिया की जीत और ड्रॉ, कुछ भी हो सकता है.”