सिडनी: सलामी बल्लेबाज मार्कस हैरिस ने भारत के खिलाफ चौथे टेस्ट में शनिवार को शतकीय पारी खेलने से चूकने के बाद कहा कि ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज अच्छी शुरुआत को बड़ी पारी में नहीं बदल सके जिससे टीम की परेशानी बढ़ गई है. हैरिस ने 79 रन की पारी खेली जो मौजूदा श्रृंखला में उनकी दूसरी अर्धशतकीय पारी है और इस सीरीज में किसी ऑस्‍ट्रेलियाई बल्‍लेबाज द्वारा खेली गई सबसे बड़ी पारी है.Also Read - भारत की टी20 वर्ल्ड कप टीम में Kuldeep Yadav को मिलना चाहिए मौका: Muttiah Muralitharan

Also Read - IND vs SL: डी सिल्वा-करुणारत्ने ने दिलाई श्रीलंका को जीत, Kuldeep Yadav की मेहनत बेकार, तस्वीरों में देखें मैच के खास पल

हैरिस ने पहले सत्र में शानदार बल्लेबाजी की लेकिन दूसरे सत्र के तीसरे ओवर में रविन्द्र जडेजा की गेंद विकेट पर खेल बैठे. बारिश के कारण तीसरे दिन का खेल रोके जाने तक ऑस्ट्रेलिया ने छह विकेट पर 236 रन बना लिए थे. हैरिस ने कहा, ‘‘मैं आधा-अधूरा शॉट खेलने के चक्कर में आउट हो गया. मैं किसी अन्य चीज से ज्यादा खुद से निराश हूं. मुझे लगता है यह हमेशा योजना का हिस्सा होता है कि स्पिनर के खिलाफ शुरुआत में आक्रामक रहूं.’’ Also Read - IND vs SL- बहुत खुश हूं कि मैं और Yuzvendra Chahal एक साथ खेले: Kuldeep Yadav

उन्होंने कहा, ‘‘ऐसे समय में आउट होना काफी निराशाजनक होता है जब आपको लगता है कि आप पारी संवार सकते हैं. मैं शनिवार को अच्छी योजना के साथ उतरा था और मैंने अच्छी बल्लेबाजी भी की. शतक नहीं बना पाने से निराश हूं लेकिन मैदान पर समय बिताना और ठीक-ठाक स्कोर करना अच्छा रहा.’’

पुजारा-पंत को मिला शानदार प्रदर्शन का सम्मान, SCG के खास बोर्ड पर किया सिग्नेचर

पिच से अब स्पिनरों को मदद मिलने लगी है और जडेजा तथा कुलदीप यादव की गेंदों को टर्न मिलने लगा है. बारिश आने से पहले दिन के अंतिम दो सत्र में कुलदीप और जडेजा ने 70 रन के अंदर ऑस्ट्रेलिया के पांच बल्लेबाजों को पवेलियन भेज दिया.

ऑस्‍ट्रेलिया को बैकफुट पर धकेलने वाले कुलदीप को लगता है टेस्‍ट क्रिकेट में उन्‍हें काफी सीखने की जरूरत

हैरिस ने उम्मीद जताई कि ऑस्ट्रेलिया का निचला क्रम पहली पारी को लंबा खींच लेगा लेकिन साथ ही आगाह किया कि टीम के बल्लेबाजों को अच्छी शुरुआत को बड़ी पारी में बदलना होगा. उन्होंने कहा, ‘‘ आगे की योजना के लिए टीम की बैठक अभी नहीं हुई है लेकिन आज कई बल्लेबाजों को शुरुआत मिली लेकिन कोई भी बड़ा स्कोर नहीं बना सका. इसलिए यह आकलन करना काफी आसान है कि हमने जो गलती की, उस पर काम करें. हम अभी भी संघर्ष कर रहे हैं और पहली पारी का खेल अब भी बाकी है. हमारी टीम युवा है और हम इस पर काम कर रहे हैं. हम रैंकिंग में पहले स्थान पर काबिज टीम के खिलाफ खेल रहे हैं, इसलिए यह इतना आसान नहीं है.’’