नई दिल्‍ली: बीसीसीआई की सिलेक्‍शन कमेटी निलंबित खिलाडि़यों हार्दिक पांड्या और केएल राहुल की जगह मयंक अग्रवाल और विजय शंकर को भारतीय टीम में शामिल कर सकती है. पांड्या और राहुल को एक टीवी शो में आपत्तिजनक टिप्‍पणियों के बाद ऑस्‍ट्रेलिया दौरे के बीच से ही भारत वापस बुला लिया गया है. उन्‍हें मामले की जांच होने तक निलंबित किया गया है. दोनों ऑस्‍ट्रेलिया में वनडे सीरीज में भारतीय टीम का हिस्‍सा था. उनके लौटने के बाद टीम के पास चयन के लिए 13 खिलाड़ी ही उपलब्‍ध रह गए हैं. इसलिए संभावना है कि चयन समिति उनके स्‍थान पर इन दोनों खिलाडि़यों को ऑस्‍ट्रेलिया भेज सकता है.

यदि ऐसा होता है तो मयंक अग्रवाल पहली बार भारत की वनडे टीम का हिस्‍सा बनेंगे. विजय शंकर भारत के लिए टी20 अंतरराष्‍ट्रीय मैच खेल चुके हैं. उन्‍होंने मार्च में निदाहस ट्रॉफी में टी20 मैचों में डेब्‍यू किया था. अग्रवाल, केएल राहुल की तरह ओपनिग कर सकते हैं और टॉप ऑर्डर में भी बल्‍लेबाजी कर सकते हैं. वहीं, विजय शंकर, पांड्या की तरह मिड्ल ऑर्डर के बल्‍लेबाज तथा मीडियम पेस गेंदबाज हैं.

पांड्या-राहुल पर कैसे हो फैसला: जांच के तरीके को लेकर विनोद राय और डायना इडुल्‍जी की अलग-अलग राय

हन दोनों खिलाडि़यों को ऑस्‍ट्रेलिया भेजने का फैसला इनके हालिया प्रदर्शन के भी अनुरूप है. अग्रवाल ने इसी दौरे पर टेस्‍ट सीरीज के दौरान डेब्‍यू किया था और पहली पारी में ही 76 रनों की शानदार पारी खेली थी. दो टेस्‍ट की तीन पारियों में उन्‍होंने दो अर्धशतक लगाए थे. लिस्‍ट ए क्रिकेट में उनका रिकॉर्ड भी शानदार है. अब तक 75 मैचों में उन्‍होंने 48.71 की औसत से 3605 रन बनाए हैं. उनका स्‍ट्राइक रेट भी 100 से ज्‍यादा है.

रोहित-धोनी की कोहली ने की तारीफ, कहा- हार के बाद परेशान नहीं टीम इंडिया

विजय शंकर नवंबर, 2018 में न्‍यूजीलैंड दौरे पर गई इंडिया ए टीम का हिस्‍सा थे. सीरीज के तीन मैचों में उन्‍होंने 94 की औसत से 188 रन बनाए थे और टीम के सबसे सफल बल्‍लेबाज रहे थे. गेंदबाजी में भी उनका प्रदर्शन प्रभावशाली रहा था. विजय शंकर ने लिस्‍ट ए के 58 मैचों में 37.12 की औसत से 1448 रन और 31.18 की औसत से 43 विकेट भी लिए हैं.