मेलबर्न: ऑस्ट्रेलिया अपने घर में ही एक और हार के कगार पर खड़ा है. यह हार उसे बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी से दूर कर देगी क्योंकि उस पर भारत का कब्जा बरकरार रहेगा. इसकी बड़ी वजह टीम की बल्लेबाजी है. भारत के खिलाफ टेस्ट सीरीज की छह पारियां पूरी होने वाली हैं, लेकिन ऑस्ट्रेलिया का एक भी बल्लेबाज शतक नहीं लगा पाया है. समस्या यह है कि घरेलू क्रिकेट में इससे बेहतर विकल्प मौजूद भी नहीं है. टेस्ट मैच में कमेंट्री के दौरान पूर्व स्पिनर शेन वार्न ने कहा कि ऑस्ट्रेलियाई चयनकर्ताओं के पास ज्यादा विकल्प नहीं हैं. वे यही कर सकते हैं कि एक औसत दर्जे के बल्लेबाज को दूसरे से बदल दें. शायद यही कारण है कि ऑस्ट्रेलियाई टीम मैनेजमेंट अब भी अपने बल्लेबाजों से बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद कर रहा है. ऑस्ट्रेलिया के स्पिनर नाथन लियोन ने पहली पारी में खराब प्रदर्शन करने वाले बल्लेबाजों का बचाव करते हुये कहा, ‘‘ उन्हें जल्द ही सफलता मिलने वाली है.’’ Also Read - सिडनी में Rahane, Pujara और Ashwin ने बेटियों संग की आउटिंग, देखें तस्वीरें

Also Read - Australia vs India: तीसरे वनडे मैच में नजर आ सकते हैं ये भारत-ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी

जीत के लिए 399 रन का लक्ष्य का पीछा कर रही ऑस्ट्रेलियाई टीम ने शनिवार को चौथे दिन का खेल खत्म होने तक 258 रन पर आठ विकेट गंवा दिए थे. उन्होंने कहा ‘‘ हम विश्व स्तरीय गेंदबाजी आक्रमण का सामना कर रहे हैं. मैंने जो भारतीय गेंदबाजी देखी है, उसमें यह सर्वश्रेष्ठ है. हमारी टीम के बल्लेबाज निराश हैं लेकिन मुझे पता है वे कितनी मेहनत कर रहे हैं. उन्हें जल्द ही सफलता मिलने वाली है.’’ Also Read - India vs Australia 2020/21: दूसरे वनडे में कप्तान Virat Kohli से हुई ये 3 गलती, जानिए पूरी डिटेल

भारतीय टीम ने पहली पारी सात विकेट पर 443 रन पर घोषित की थी जिसके जवाब में ऑस्ट्रेलिया की पहली पारी 151 रन पर सिमट गई. लियोन ने कहा, ‘‘ मैं आरोन फिंच का बड़ा समर्थक हूं. वह मेहनत कर रहा है और नेट पर काफी समय बिता रहा है. हमने उसे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में विश्व स्तरीय बल्लेबाज की तरह देखा है. वह किसी अन्य बल्लेबाज की तरह निराश है.’’

एमसीजी टेस्ट: कमिंस का एक ही दिन बैटिंग और बॉलिंग में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन, अब देश के पीएम बनेंगे क्या!

दूसरी पारी में भी टीम की बल्लेबाजी फ्लॉप रही और एक समय टीम ने 176 रन पर सात विकेट गंवा दिए थे. पैट कमिंस हालांकि एक छोर पर डटे रहे और मैच को आखिरी दिन तक खींचने में सफल रहे. कमिंस की प्रशंसा करते हुए लियोन ने कहा, ‘‘ वह शानदार युवा है और उससे भी बेहतर क्रिकेटर. उसे करियर में लंबा सफर तय करना है.’’

बूम-बूम वैरिएशन, नतीजा कंफ्यूजन: इन छह गेंदों से समझिए बुमराह ने कैसे किया शॉन मार्श का शिकार

लियोन ने जसप्रीत बुमराह की तारीफ की जिन्होंने मैच में आठ विकेट लिए हैं और वह भारत के सबसे बेहतरीन गेंदबाज बन कर उभरे हैं. उन्होंने हालांकि कहा कि रविवार को अंतिम दो विकेट के लिए हम भारत से कड़ी मेहनत करवाएंगे. उन्होंने कहा, ‘‘बुमराह की गति काफी तेज है और वह धीमी गेंदों का भी काफी अच्छे से मिश्रण करता है. वह विश्व स्तरीय गेंदबाज है और उसके पास हर तरह का विकल्प है. इसलिए वह इस समय शीर्ष पर है.’’

 

इनपुट: एजेंसी