मेलबर्न: खिलाड़ी सिर्फ खेल से महान नहीं होता. मैदान के बाहर अपने प्रतिद्वंद्वियों के साथ उसका व्यवहार कैसा है, यह बात भी काफी मायने रखती है और इसकी मिसाल अमेरिका की दिग्गज महिला टेनिस खिलाड़ी सेरेना विलियम्स ने दी है. सेरेना ने शनिवार को साल के पहले ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट ऑस्ट्रेलियन ओपन के तीसरे दौर के मैच में यूक्रेन की डायना यास्ट्रेमस्का को मात दे चौथे दौर में प्रवेश किया.

सेरेना से मात खाने के बाद 18 साल की डायना रोने लगीं और तभी सेरेना ने उनके आंसू पोंछे और ढाढ़स बंधाया. सेरेना ने मैच के बाद दिए इंटरव्यू में उनकी हौंसला अफजाई भी की.

रणजी ट्रॉफी में सौराष्‍ट्र के रिकॉर्डतोड़ प्रदर्शन के पीछे थे चेतेश्‍वर पुजारा! कप्‍तान उनादकट ने बताया सीक्रेट

बीबीसी ने सेरेना के हवाले से लिखा, “आप भी आगे जाओगी, इसिलए रोओ मत.” सेरेना ने कहा, “मुझे लगता है कि डायना ने शानदार खेल खेला. वह शानदार तरीके से आगे बढ़ रही हैं और काफी युवा हैं. वह आगे जाने को तैयार हैं. मैं भी जब युवा थी, मैंने भी काफी लोगों के खिलाफ खेला था और मैंने जिसका भी सामना किया था वो आसान नहीं था. आप कोर्ट पर उतर कर सिर्फ अपना सर्वश्रेष्ठ दे सकते हैं.”

चौथे दौर में सेरेना का सामना वर्ल्ड नंबर-1 रोमानिया की सिमोना हालेप से होगा. हालेप ने सेरेना की बहन वीनस को मात देकर चौथे दौर में प्रवेश किया है.