नई दिल्ली : ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम ने भारत के खिलाफ जारी चौथे टेस्ट मैच के चौथे दिन रविवार को फॉलोऑन मिलने के बाद अपनी दूसरी पारी में स्टम्प्स तक बिना कोई विकेट गंवाए छह रन बनाए हैं. सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर जारी इस मैच में ऑस्ट्रेलिया के लिए सलामी बल्लेबाज उस्मान ख्वाजा (4) और मार्कस हैरिस (2) नाबाद हैं. ऑस्ट्रेलिया 31 साल बाद अपने घर में किसी टीम के खिलाफ टेस्ट मैच में फॉलोऑन खेल रही है. पिछली बार 1988 में ऑस्ट्रेलिया को इंग्लैंड ने इसी मैदान पर फॉलोऑन दिया था. Also Read - India vs Australia: पहले वनडे से पहले Virat Kohli ने दिखाया दम, खूब उड़ा रहे चौके-छक्के, देखें VIDEO

Also Read - Aus vs Ind, 1st ODI: नंगे पैर मैदान पर घेरा बनाकर नस्लवाद के खिलाफ विरोध दर्ज कराएगी ऑस्ट्रेलियाई टीम

इसके अलावा, 1986 के बाद पहली बार भारत ने ऑस्ट्रेलिया को फॉलोऑन दिया है. इससे पहले, 1986 में सिडनी में नववर्ष के मौके पर खेले गए मैच में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को फॉलोऑन दिया था. दोनों टीमों के बीच चौथे दिन के मैच में बारिश ने काफी परेशानियां खड़ी की. बारिश के कारण ही पहले सत्र में एक भी गेंद नहीं फेंकी गई और लंच ब्रेक की घोषणा कर दी गई. Also Read - India vs Australia: आइसोलेशन पूरा होने के बाद नए होटल में पहुंची टीम इंडिया

इसके बाद, दूसरे सत्र में अपने पिछले दिन के स्कोर छह विकेट के नुकसान पर 236 रनों के स्कोर से आगे खेलने उतरी ऑस्ट्रेलिया ने 64 रन जोड़कर टीम को 300 के स्कोर तक पहुंचाया और इसी स्कोर पर उसकी पहली पारी समाप्त भी हुई. शमी ने ऑस्ट्रेलिया को एक भी रन जोड़ने का मौका नहीं दिया और पिछले दिन के स्कोर 236 रनों पर ही पैट कमिंस (25) को बोल्ड कर मेजबान टीम का सातवां विकेट गिराकर मेजबान टीम को दिन का पहला झटका दिया.

रोहित शर्मा ने बेटी का रखा नाम, पहली बार शेयर की ये खास फोटो

इसके बाद, पीटर हैंड्सकॉम्ब (37) ने मिशेल स्टार्क (नाबाद 29) के साथ 21 रनों को जोड़कर टीम को 257 के स्कोर तक पहुंचाया लेकिन इसी स्कोर पर जसप्रीत बुमराह ने हैंड्सकॉम्ब को बोल्ड कर पवेलियन का रास्ता दिखाया. कुलदीप ने इसके बाद मिशेल का साथ देने आए नाथन लॉयन को खाता खोलने का मौका दिए बगैर एलबीडब्ल्यू आउट कर पवेलियन का रास्ता दिखाया. कुलदीप 93वें ओवर में ऑस्ट्रेलिया की पहली पारी को समाप्त कर सकते थे लेकिन इस ओवर की चौथी गेंद पर हनुमा विहारी ने जोश हेजलवुड (21) का कैच छोड़कर उन्हें जीवनदान दे दिया.

हेजलवुड को दूसरी बार जीवनदान नहीं मिला. उन्होंने स्टार्क के साथ 42 रनों की साझेदारी की और टीम को 300 रनों के स्कोर तक पहुंचाया. इसी स्कोर पर कुलदीप ने दूसरा मौका न गंवाते हुए हेजलवुड को एलबीडब्ल्यू आउट कर पवेलियन भेज दिया और ऑस्ट्रेलिया की पहली पारी 300 के स्कोर पर समेट दी. इसके बाद, भारतीय टीम की ओर से मिले फॉलोऑन पर ऑस्ट्रेलिया ने टी-ब्रेक खत्म होने तक बिना कोई विकेट गंवाए छह रन बनाए. तीसरे सत्र में बारिश ने फिर बाधा डाली और इस कारण चौथे दिन के मैच को समय से पहले समाप्त कर दिया गया.

VIDEO: शमी की तरह बुमराह ने दिखाई खतरनाक गेंदबाजी, देखें कैसे हैंड्सकॉम्ब-कमिंस हुए OUT

ऑस्ट्रेलिया के लिए पहली पारी में मार्कस हैरिस (79) ने सबसे अधिक रन बनाए. इसके अलावा, मार्नस लाबुसचाग्ने ने 38 और पीटर हैंड्सकॉम्ब ने 37 रनों का योगदान दिया. भारत के लिए इस पारी में कुलदीप यादव ने सबसे अधिक पांच विकेट लिए, वहीं रवींद्र जडेजा और मोहम्मद शमी ने दो-दो विकेट लिए. इसके अलावा, जसप्रीत बुमराह को एक सफलता हाथ लगी.

इस मैच में सबसे अधिक विकेट लेना वाले कुलदीप ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट मैच की पहली पारी में पांच विकेट लेकर सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले दूसरे खिलाड़ी हैं. उन्होंने 99 रन देकर पांच विकेट लिए. इससे पहले, इसी मैदान पर इंग्लैंड के पूर्व गेंदबाज जॉनी वार्डल ने 1955 में खेले गए मैच में 79 रन देकर पांच विकेट लिए थे. इसके अलावा, कुलदीप ने पिछले छह टेस्ट मैचों में दूसरी पारी किसी टीम के खिलाफ एक पारी में पांच विकेट लिए हैं.

भारतीय टीम ने अपनी पहली पारी सात विकेट के नुकसान पर 622 रनों के विशाल स्कोर पर घोषित की थी. भारत ने ऑस्ट्रेलिया की ओर से पहली पारी में बनाए गए 300 रनों के स्कोर के तहत 322 रनों की बढ़त बनाई है. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उसी के घर में किसी टेस्ट मैच में यह भारत की रनों के हिसाब से सबसे बढ़ी बढ़त है. कुल मिलाकर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ रनों के मुताबिक दूसरी सबसे बड़ी बढ़त है. इससे पहले भारत ने 1988 में ईडन गार्डन्स में खेले गए टेस्ट मैच में 400 रनों की बढ़त ली थी.