नई दिल्ली. भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच टेस्ट सीरीज की जंग अब बस छिड़ने ही वाली है. लेकिन, उससे पहले मेजबान ऑस्ट्रेलिया के सामने मेहमान टीम के कप्तान और टेस्ट के नंबर एक बल्लेबाज विराट कोहली के विकेट को चटकाने को लेकर है. क्रिकेट पंडित विराट कोहली को भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच सबसे बड़ा फर्क मान रहे हैं. उनके ऐसा मानने की ठोस वजह है और वो वजह है पिछले 4 सालों में टेस्ट क्रिकेट में रन बनाने का विराट कोहली का 64.86 का औसत.

हालांकि, विराट कोहली के इस स्ट्रॉन्ग प्वाइंट में छिपी एक वजह ऑस्ट्रेलिया के इतराने की भी है. और, वो वजह है घर से बाहर विराट कोहली का प्रदर्शन. विराट की बल्लेबाजी में छिपा ये एक लूप होल्स है जो ऑस्ट्रेलिया को चांस तो देंगा लेकिन अगर वो इसे भुनाने में नाकाम रहे तो फिर कहना पड़ेगा बड़ी मुश्किल बाबा बड़ी मुश्किल.

कितनी जल्दी ‘विराट’ विकेट देगा फायदा?

विराट कोहली ज्यादातर बड़ा स्कोर तब ही बनाते हैं जब वो कुछ ओवर खेल चुके होते हैं और 20 या उससे ज्यादा रन बना लेते हैं.

एशिया से बाहर खेली 59 इनिंग में कोहली ने 17 बार अपना विकेट 10 रन से पहले गंवाया है. लेकिन, उनके आउट होने की इस संख्या में तब और इजाफा दिखा है जब वो 20 या उससे कम रन के स्कोर पर होते हैं. यानी, 10 से 20 रन के बीच विराट कोहली 23 बार आउट हुए हैं.

pjimage (22)

विराट कोहली के आउट होने का यही ट्रेंड ऑस्ट्रेलियाई सरजमी पर खेली पारियों में भी दिखा है. यहां उन्होंने 16 पारियां खेली है, जिसमें वो 5 में से 3 बार तब आउट हुए हैं जब वो 20 या उससे कम के स्कोर पर रहे हैं. लेकिन, जब कोहली ने ऑस्ट्रेलिया में एक बार 20 रन का आंकड़ा पार कर लिया, तो उन्होंने 2 फिफ्टी और 5 शतक ठोके.

सही समय पर सही वार नहीं तो सब बेकार

एशिया के बाहर 59 इनिंग में 43 बार कोहली कैच आउट हुए हैं जबकि 14 बार वो LBW या बोल्ड हुए हैं. अब इसमें सबसे अहम है उनके आउट होने का समय. दरअसल, 14 में से 8 बार कोहली तब LBW या बोल्ड हुए हैं जब उनका स्कोर 10 रन से कम का रहा है. ऑस्ट्रेलिया में 14 में से 4 बार वो LBW या बोल्ड हुए, जिसमें 3 बार ऐसा हुआ कि वो डबल डिजिट तक नहीं पहुंच सके यानी 10 रन नहीं बना सके.

कौन करेगा आउट, सवाल है टाइट?

वैसे तो कोहली अब तक सिर्फ एक ही बार स्पिन बॉलर के हाथों ऑस्ट्रेलिया में आउट हुए हैं लेकिन फिर भी विराट कोहली के खिलाफ नाथन लियॉन उनके सबसे बड़े हथियार होंगे. टेस्ट क्रिकेट में लियॉन सबसे ज्यादा 5 बार विराट कोहली का शिकार करने वाले गेंदबाज हैं. इस मामले में वो इंग्लैंड के दो तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन और स्टुअर्ट ब्रॉड के साथ खड़े हैं. हालांकि, लियॉन ने 5 में से 4 बार विराट का शिकार भारत की विकेटों पर लिया है.

टेस्ट सीरीज में टीम इंडिया का ‘विराट’ हथियार बनेगी पेस बैटरी, ऑस्ट्रेलिया जीतेंगे ‘इंडियावाले’!

लियॉन के अलावा ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाजों ने 14 बार अपनी पिचों पर विराट को आउट किया है. इसनें बेन हेल्फेनहास, पीटर सिडल और मिशेल जॉनसन ने उन्हें सबसे ज्यादा 3 बार आउट किया है. जबकि रेयान हैरिस ने 2 बार उनका शिकार किया है. लेकिन मौजूदा टीम में सिडल को छोड़कर दूसरा कोई भी गेंदबाज फिलहाल नहीं है.

विराट पर किस गेंद से करें अटैक?

चौथे स्टंप पर फेंकी गेंद ने दुनिया के हर बल्लेबाज को परेशान किया है. पर विराट कोहली के साथ ऐसा नहीं है. 2014-15 के ऑस्ट्रेलिया दौरे के बाद से कोहली ने घर से बाहर तेज गेंदबाज की इस तरह की 99 गेंदे खेली है, लेकिन, किसी पर भी वो आउट नहीं हुए हैं. हालांकि, इसके मुकाबले वो फुलर लेंथ डिलीवरी पर ज्यादा आउट हुए हैं.

pjimage (23)

2018 में घर से बाहर खेले टेस्ट में कोहली हर 43वीं फुल लेंथ डिलीवरी पर एक बार आउट हुए हैं. ये दूसरी डिलीवरी के मुकाबले उनका विकेट निकालने का तेज तरीका है. दूसरी गेंदों पर उनके आउट होने का रेशियो हर 159वीं गेंद पर 1 बार है.