नई दिल्ली. भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच पहला टेस्ट एडिलेड में 6 दिसंबर से शुरू हो रहा है. प्रैक्टिस मैच में गेंद और बल्ले की जोर आजमाइश कर भारतीय खिलाड़ियों ने इस टेस्ट के लिए अपनी कमर भी कस ली है. लेकिन, इनफॉर्म ओपनर पृथ्वी शॉ के तौर पर उसे एक बड़ा झटका भी लगा है. दरअसल, पृथ्वी को प्रैक्टिस मैच में फील्डिंग के दौरान एंकल इंजरी हो गई थी, जिस वजह से वो एडिलेड टेस्ट से बाहर हो गए हैं. अब बड़ा सवाल ये है कि पहले टेस्ट के लिए भारतीय टीम का कॉम्बिनेशन क्या होगा. किस प्लेइंग XI के साथ टीम इंडिया एडिलेड में ए-वन जीत का इरादा लिए उतरेगी. इस सवाल का जवाब भी बहुत हद तक खत्म हुए अभ्यास मैच के बाद साफ हो चुका है. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले टेस्ट में कैसा होगा टीम इंडिया का प्लेइंग XI आइए उस पर डालते हैं एक नजर.

टेस्ट सीरीज में टीम इंडिया का ‘विराट’ हथियार बनेगी पेस बैटरी, ऑस्ट्रेलिया जीतेंगे ‘इंडियावाले’!

ओपनर: मुरली विजय और लोकेश राहुल

एक्सपीरिएंस और परफॉर्मेन्स के लिहाज से मुरली ओपनिंग स्लॉट के लिए टीम मैनेजमेंट की पहली पसंद है. इसकी एक बड़ी वजह ऑस्ट्रेलिया में उनका शानदार टेस्ट रिकॉर्ड है. ऑस्ट्रेलिया में खेले 4 टेस्ट में मुरली विजय ने 60.25 की औसत से 1 शतक के साथ 482 रन बनाए हैं. मुरली को कंगारू देश की पिचें कितनी रास आती है इसका एक बड़ा नमूना क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया XI के खिलाफ अभ्यास मैच में भी दिखा, जहां उन्होंने 16 चौके और 5 छक्के से सजी 132 गेंदों पर 129 रन की बड़ी पारी खेली.

pjimage

टीम में दूसरे ओपनर के तौर पर वैसे तो पृथ्वी शॉ की जगह बन रही थी. लेकिन, प्रैक्टिस मैच में फील्डिंग के दौरान हुई एंकल इंजरी की वजह से उन्हें पहले टेस्ट से बाहर होना पड़ा और ये मौका अब लोकेश राहुल को मिलता दिख रहा है. प्रैक्टिस मैच की पहली पारी में 3 रन बनाकर आउट होने वाले राहुल ने भी दूसरी पारी में 62 रन की पारी खेलकर ओपनिंग के लिए अपना दावा ठोस करने में देर नहीं की.

मिडिल ऑर्डर: पुजारा, विराट, रहाणे, विहारी, पंत

एडिलेड टेस्ट के लिए टीम इंडिया के प्लेइंग XI में मिडिल ऑर्ड की जिम्मेदारी पुजारा, विराट, रहाणे, विहारी और पंत के कंधों पर होगी. इन पांचों बल्लेबाजों ने प्रैक्टिस मैच में अच्छे हाथ दिखाए हैं. 5 में से पहले 4 ने प्रैक्टिस मैच में अर्धशतक ठोका जबकि पंत का बल्ला नाबाद रहा था. हनुमां ने इंग्लैंड दौरे पर मिले मौके को भी अर्धशतक के जरिए खूब भुनाया था और यहां भी मिडिल ऑर्डर में उनके खेलने का मतलब है कि रोहित शर्मा को अपनी बारी के लिए इंतजार करना पड़ेगा.

pjimage (1)

तेज गेंदबाज: शमी, बुमराह, ईशांत

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज में उसका पेस अटैक इस बार एक्स-फैक्टर है. एडिलेड टेस्ट में भारत जिन 3 तेज गेंदबाजों के साथ उतरेगा उनमें शमी, बुमराह और ईशांत का नाम हो सकता है. शमी क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया XI के खिलाफ प्रैक्टिस मैच में सबसे शानदार प्रदर्शन वाले गेंदबाज रहे हैं. उन्होंने 24 ओवर में 97 रन देकर 3 विकेट चटकाए. शमी साल 2018 में अब तक 27.60 की औसत से 33 विकेट ले चुके हैं.

pjimage (2)

बुमराह पहली बार ऑस्ट्रेलिया की धरती पर कोई टेस्ट खेलेंगे. अपने 6 टेस्ट के करियर में 28 विकेट ले चुके बुमराह टीम इंडिया का ट्रंप कार्ड होंगे, जिसका ट्रेलर भी उन्होंने प्रैक्टिस मैच में सिर्फ 1.1 ओवर में 1 रन देकर 1 विकेट चटकाकर दिखा दिया है.

भारतीय तेज गेंदबाजों में ऑस्ट्रेलिया का सबसे ज्यादा अनुभव ईशांत के पास है. सबसे बड़ी बात जो प्लेइंग XI में ईशांत के होने का दावा करती है वो है उनका पिछले 12 महीनों का गेंदबाजी रिकॉर्ड. पिछले 12 महीनों में ईशांत ने 23.09 की औसत से 33 टेस्ट विकेट चटकाए हैं. इस दौरान तेज गेंदबाजों में उनसे बेहतर औसत सिर्फ ऑस्ट्रेलिया के पैट कमिंस का ही रहा है.

स्पिनर: कुलदीप यादव

प्रैक्टिस मैच में बेशक कुलदीप को ज्यादा गेंदबाजी के मौके नहीं मिले लेकिन एडिलेड में प्लेइंग XI में उन्हें अश्विन और जडेजा के ऊपर तरजीह मिल सकती है. इसकी दो बड़ी वजह है. एक तो पिच की उछाल और दूसरा कुलदीप के खिलाफ ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों के पास किसी ढाल का न होना.

pjimage (3)

कुलदीप को स्पिन ट्रैक से ज्यादा बाउंसी ट्रैक पर गेंदबाजी करना पसंद है और ये बात वो खुद भी कई बार बयां कर चुके हैं. वहीं, उनकी कलाई को पढ़ पाने में ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज अब तक नाकाम रहे हैं. ये चीज T20 सीरीज में क्लियर दिखी है और उसी का फायदा उठाते हुए अब वो टेस्ट सीरीज में भारतीय टीम के तुरुप का इक्का साबित हो सकते हैं.

जहां तक टीम में दूसरे स्पिनर की जरुरत की बात आएगी तो हनुमां विहारी भी अपनी फिरकी से बेहतर हाथ दिखा सकते हैं, जो इंग्लैंड में बेहद असरदार रहे थे.