नई दिल्ली : भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच शुक्रवार को वनडे सीरीज का तीसरा मैच मेलबर्न में खेला जायेगा. इस मुकाबले में भारत की नजर ऐतिहासिक वनडे सीरीज जीत पर होगी. फिलहाल तीन मैचों की सीरीज में दोनों टीमें एक-एक की बराबरी पर हैं. भारत ने सिडनी वनडे में हार का सामना किया था. जबकि एडिलेड में उसने रोमांचक जीत हासिल की थी. टीम ने ऑस्ट्रेलिया में अभी तक द्विपक्षीय सीरीज नहीं जीती. इस फॉर्मेट में उसने ऑस्ट्रेलिया में 1985 में विश्व चैम्पियनशिप ओर 2008 में सीबी सीरीज जीती थी.

पिछली बार ऑस्ट्रेलिया ने 2016 में भारत को यहां वनडे सीरीज में 4-1 से हराया था. मेलबर्न में भारत अगर तीसरा वनडे जीत लेता है तो 2018-19 के दौरे पर कोई भी सीरीज गंवाये बिना टीम लौटेगी. टी20 सीरीज 1 -1 से बराबर रही जबकि टेस्ट सीरीज में 2-1 से ऐतिहासिक जीत दर्ज की.

भारत की एकमात्र चिंता पांचवें गेंदबाजी विकल्प की होगी. सीरीज में अभी तक तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार और मोहम्मद शमी प्रभावी रहे हैं जबकि स्पिनर कुलदीप यादव और रविंद्र जडेजा ने बीच के ओवरों में मोर्चा संभाला है. हार्दिक पांड्या की गैर मौजूदगी में भारत ने सिडनी और एडिलेड में पांचवें विकल्प के रूप में तेज गेंदबाजों खलील अहमद और मोहम्मद सिराज को आजमाया जिन्होंने क्रमश: 55 और 76 रन दिये.

टीम इंडिया के बैलेंस के लिए जरूरी हैं पांड्या, धवन ने जाधव को बताया ‘गोल्डन आर्म’

पांचवें गेंदबाज के रूप में ऑलराउंडर विजय शंकर और लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल विकल्प हो सकते हैं. दोनों ने एमसीजी पर जमकर अभ्यास किया. शंकर एक अतिरिक्त बल्लेबाज की कमी भी पूरी करेंगे लेकिन देखना यह है कि वनडे क्रिकेट में पदार्पण के साथ क्या टीम प्रबंधन उन्हें पूरे 10 ओवर देने का भरोसा कर सकता है. सिराज इसमें नाकाम रहे और कप्तान विराट कोहली असमंजस में थे कि उससे स्पैल के आखिरी तीन ओवर कराये जायें या नहीं. भारत अगर दो तेज गेंदबाजों और तीन स्पिनरों को लेकर उतरता है तो चहल विकल्प हो सकते हैं.

शंकर के खेलने से बल्लेबाजी क्रम में बदलाव होगा और केदार जाधव के लिये जगह बन सकती है. ऐसे में पांचवें गेंदबाज के दस ओवर जाधव और शंकर मिलकर कर सकते हैं. ऐसे में अंबाती रायडू या दिनेश कार्तिक को बाहर रहना होगा. कार्तिक ने दूसरे वनडे में अच्छा प्रदर्शन किया जबकि रायडू अभी तक प्रभावित नहीं कर सके हैं. उन्होंने गुरूवार को हालांकि वैकल्पिक अभ्यास सत्र में शंकर, चहल, जाधव, महेंद्र सिंह धोनी और शिखर धवन के साथ भाग लिया.

धोनी-गिलक्रिस्ट जैसा खिलाड़ी नहीं बनना चाहते ऋषभ पंत, बताया किसे मानते हैं आइडल

धोनी ने पिछले दोनों मैचों में अर्धशतक बनाकर आलोचकों को जवाब दिया है. दूसरी ओर ऑस्ट्रेलिया के सामने चयन की एक दुविधा है चूंकि जैसन बेहरेनडोर्फ फिट नहीं है. उनकी जगह बिली स्टालनेक ले सकते हैं. सलामी बल्लेबाज आरोन फिंच और एलेक्स कैरी से भी अच्छी पारियों की उम्मीद होगी. ऑस्ट्रेलिया ने एमसीजी पर भारत के खिलाफ 14 में से नौ वनडे जीते हैं.

संभावित प्लेइंग इलेवन :

भारत – रोहित शर्मा, शिखर धवन, विराट कोहली (कप्तान), अंबाती रायडू, महेंद्र सिंह धोनी, दिनेश कार्तिक, रविंद्र जडेजा, भुवनेश्वर कुमार, कुलदीप यादव, खलील अहमद, मोहम्मद शमी.

ऑस्ट्रेलिया : ऑस्ट्रेलिया : एलेक्स कैरी, आरोन फिंच (कप्तान), उस्मान ख्वाजा, शॉन मार्श, पीटर हैंड्सकोंब, मार्कस स्टोइनिस, ग्लेन मैक्सवेल, रिचर्डसन, नाथन लायन, पीटर सिडल, जेसन बेहरेनडोर्फ.