नई दिल्ली : ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टीम इंडिया मेलबर्न में शुक्रवार को वनडे सीरीज का निर्णायक मुकाबले खेलने मैदान में उतरेगी. फिलहाल सीरीज में दोनों टीमें 1-1 की बराबरी पर चल रही हैं. मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड में खेले जाने वाले इस मुकाबले की बात करें तो यह काफी रोमांचक होगा. अगर रिकॉर्ड्स पर नजर डालें तो टीम इंडिया बैकफुट पर नजर आ रही है. इस मैदान में भारत ने अब तक 14 वनडे खेले हैं, जिसमें से सिर्फ 5 मैचों में जीत हासिल हुई. यहां भारत ने आखिरी बार महेन्द्र सिंह धोनी की कप्तानी में मैच जीता था.

दरअसल टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एडिलेड वनडे में शानदार जीत हासिल कर सीरीज में वापसी की. अब उसके सामने सीरीज जीतने की चुनौती होगी. भारत को तीसरा और आखिरी मुकाबला मेलबर्न में खेला है. यहां टीम का रिकॉर्ड ज्यादा अच्छा नहीं रहा है. उसने मेलबर्न में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 14 मैच खेलते हुए 5 मैच जीते. वहीं 9 मैचों में हार का सामना किया. दिलचस्प बात यह है कि भारत ने जब मेलबर्न में आखिरी मुकाबला जीता था तब धोनी कप्तान थे. धोनी इस बार भी टीम में शामिल हैं. लिहाजा उनके अनुभव का फायदा टीम के साथी खिलाड़ियों को मिलेगा.

धोनी-गिलक्रिस्ट जैसा खिलाड़ी नहीं बनना चाहते ऋषभ पंत, बताया किसे मानते हैं आइडल

साल 2008 में भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया दौरे पर आयी थी. इस दौरान वनडे सीरीज का चौथा मैच मेलबर्न में खेला गया. इसे भारत ने 5 विकेट से जीत लिया था. इस मुकाबले में ऑस्ट्रेलियाई टीम पहले बैटिंग करते हुए 159 रन पर ऑलआउट हो गई. भारत के लिए ईशांत शर्मा ने शानदार गेंदबाजी करते हुए 4 विकेट झटके थे. जबकि श्रीसंत को 3 सफलताएं मिलीं थीं. ऑस्ट्रेलिया के लिए दिए लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम ने 25 गेंद पहले ही मुकाबला जीत लिया. इसमें सचिन तेंदुलकर ने 44 रन की शानदार पारी खेली. यह मुकाबला धोनी की कप्तानी में खेला गया था.

VIDEO: ऋषभ पंत की गर्लफ्रेंड के साथ फोटो वायरल, देखें कौन हैं ईशा नेगी

भारत ने मेलबर्न में पहला वनडे मैच दिसंबर 1980 में खेला, जिसे 66 रन से जीत लिया. जबकि इसके बाद 1985 में 8 विकेट से जीत हासिल की. इस तरह जनवरी 1986 में 8 विकेट से जीत हासिल की. इस दौरे पर भारत ने 6 विकेट से जीत हासिल की. जब कि इसके बाद 2008 में जीत हासिल की. भारत ने यहां आखिरी मुकाबला जनवरी 2016 में खेला, जिसमें 3 विकेट से हार का सामना किया.