नई दिल्ली : टीम इंडिया और ऑस्ट्रेलिया के बीच एडिलेड में टेस्ट सीरीज का पहला मैच 6 दिसंबर से खेला जायेगा. यह सीरीज भारत के लिए काफी अहम होगी. क्यों कि उसके पास ऑस्ट्रेलिया में पहला टेस्ट सीरीज जीतने का अच्छा मौका है. टीम इंडिया ने यहां अभी तक एक भी सीरीज नहीं जीती है. इस सीरीज में भारतीय गेंदबाजों पर भी नजर रहेगी. भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह और युवा स्पिन गेंदबाज कुलदीप यादव पर भी निगाहें होंगी. आइये एक नजर डालते हैं उन पांच गेंदबाजों पर जिनके पास खुद के बेहतर साबित करने का अच्छा मौका है…

भुवनेश्वर कुमार –

टीम इंडिया के स्टार गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार ने अब तक शानदार प्रदर्शन किया है. उन्होंने क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट्स अच्छा प्रदर्शन किया है. अगर टेस्ट फॉर्मेट की बात करें तो भुवी ने अब तक 21 मैच खेले हैं. इस दौरान 63 विकेट झटके हैं. उन्होंने 4 बार पांच या इससे ज्यादा विकेट भी लिए हैं. भुवनेश्वर का टेस्ट मैचों में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 8 विकेट लेकर 96 रन देना रहा है. अब उनकी ऑस्ट्रेलिया में परीक्षा होगी. हालांकि अगर भुवी को प्लेइंग इलेवन में जगह मिलेगी तो वो निश्चित तौर पर शानदार प्रदर्शन करेंगे.

धोनी के साथ विवाद पर लक्ष्मण की प्रतिक्रिया, बाहरी कारणों को बताया संन्यास की वजह

जसप्रीत बुमराह –

डेथ ओवर्स के स्पेशलिस्ट बुमराह के लिए यह नया अनुभव होगा. उन्होंने अब तक ऑस्ट्रेलिया में एक भी टेस्ट मैच नहीं खेला है. लिहाजा बुमराह पर सभी की नजरें रहेंगी. अगर बुमराह के करियर पर नजर डालें तो उन्होंने 6 टेस्ट मैचों में 28 विकेट लिए हैं. इस दौरान 2 बार पांच या इससे ज्यादा विकेट ले चुके हैं. जब कि 44 वनडे मैचों में 78 विकेट और 40 टी-20 इंटरनेशनल मैचों में 48 विकेट लिए हैं. लेकिन अब ऑस्ट्रेलिया में उनकी परीक्षा होगी. हालांकि यह देखना दिलचस्प होगा कि टीम इंडिया एडिलेड टेस्ट के लिए किन गेंदबाजों को प्लेइंग इलेवन में जगह देगी.

टीम इंडिया के ये 5 खिलाड़ी टेस्ट में करेंगे बेस्ट, ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बनेंगे ‘गेम चेंजर’

कुलदीप यादव –

भारत के इकलौत चाइनमैन गेंदबाज कुलदीप टी-20 और वनडे फॉर्मेट में खुद को बेहतर साबित कर चुके हैं. उन्होंने अब तक खेले 5 टेस्ट मैचों में 19 विकेट लिए. इस दौरान उन्होंने काफी प्रभावित किया. अब उनकी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ परीक्षा होगी. कुलदीप पहला ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट मैच खेलेंगे. लिहाजा उनके पास प्रतिभा दिखाने का अच्छा मौका है. इसके अलावा वो भारत के लिए भी फायदेमंद साबित होंगे. दिलचस्प बात यह है कि कुलदीप ने पदार्पण टेस्ट मैच भी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ही खेला था.