नई दिल्ली: ऑस्ट्रेलिया के लिए पेरू के खिलाफ फीफा विश्व कप का अंतिम ग्रुप मैच किसी परीक्षा से कम नहीं है. यह मैच उसकी नॉक आउट दौर में पहुंचने की आखिरी उम्मीद है. हालांकि, इस मैच में भी ऑस्ट्रेलिया को कड़ी मेहनत करनी है. डेनमार्क के साथ अंतिम-16 दौर में प्रवेश के संघर्ष में शामिल ऑस्ट्रेलिया को ग्रुप-सी में खेले जाने वाले आखिरी मैच में बड़े गोल अंतर से जीत हासिल करनी होगी. Also Read - IPL 2020 KKR vs MI Preview: कोलकाता-मुंबई मैच में 'हिटमैन', शुबमन, हार्दिक और रसेल पर होगी नजर

Also Read - India vs New Zealand, 2nd ODI: ऑकलैंड वनडे में इन 2 बदलाव के साथ उतर सकता है भारत

ऑस्ट्रेलिया की टीम ग्रुप-सी में एक अंक के साथ तीसरे स्थान पर है, वहीं डेनमार्क चार अंकों के साथ दूसरे स्थान पर है. ऑस्ट्रेलिया को पेरू के खिलाफ न केवल जीतना होगा, बल्कि उसके खिलाफ अधिक गोल भी करने होगें. इस जीत से ऑस्ट्रेलिया चार अंकों के साथ डेनमार्क की बराबरी कर लेगा और गोल के अंतर से नॉक आउट में प्रवेश हासिल कर सकता है. Also Read - IND v WI 3rd T20: निर्णायक T20 में इस प्लेइंग इलेवन के साथ उतर सकती है टीम इंडिया

FIFA2018: संन्यास ले सकते हैं मोहम्मद सालाह, साथी खिलाड़ियों को बताई वजह

ऑस्ट्रेलिया को अपने पहले मैच में फ्रांस से 2-1 से हार का सामना करना पड़ा था, वहीं डेनमार्क के खिलाफ उसका दूसरा मैच 1-1 से ड्रॉ हुआ था. ऐसे में देखा जाए, तो ऑस्ट्रेलिया का अटैक मैचों में अच्छा काम कर रहा है लेकिन उसका डिफेंस प्रतिद्वंद्वी टीम के अटैक को संभाल पाने में कमजोर है. ऑस्ट्रेलिया और पेरू का मैच मंगलवार को शाम 7.30 बजे सोचि के फिश्ट स्टेडियम में खेला जाएगा. पेरू के खिलाफ मैच में उसे जीत के लिए अधिक मेहनत की जरूरत नहीं होगी.

पेरू को ग्रुप स्तर पर खेले गए अपने पहले मैच में डेनमार्क के खिलाफ 1-0 से हार का सामना करना पड़ा था और दूसरे मैच में उसे फ्रांस ने इसी स्कोर से हराया था. विश्व कप के नॉक आउट दौर से बाहर हो चुकी पेरू के लिए यह मैच औपचारिकता मात्र है. उसका लक्ष्य जीत के साथ विश्व कप का समापन करना होगा. इसलिए, ऑस्ट्रेलिया को अपना अटैक और डिफेंस मजबूत रख इस मैच में उतरना होगा.

1983 WorldCup: जब वेस्टइंडीज पर कहर बनकर टूटे भारतीय खिलाड़ी, आज ही के दिन रचा इतिहास

टीम पेरू:

गोलकीपर – पेद्रो गालेसे, कार्लोस सासेडा और जोस कावार्लो.

डिफेंडर – एल्डो कोजरे, लुइस एडविनाकुला, मिगुएल अराजुओ, एल्बटरे रोड्रिगेज, क्रिस्टियन रामोस, एंडरसन सेंटामारिया, निल्सन लोयोला, मिगुएल ट्राउको.

मिडफील्डर – रेनाटो टापिया, प्रेडो एक्विनो, योशिमार योतुन, एडिसन फ्लोरेस, पाउलो हुतार्दो, विल्डर काटागेर्ना, क्रिस्टन कुएवा, एंडी पोलो.

फॉरवर्ड – आंद्रे कारिलो, जेफरसन फारफान, राउल रुइडियाज, पाउलो गुएरेरो.

गेंदबाजों के छक्के छुड़ा देते हैं टीम इंडिया के 5 बल्लेबाज, जानें कौन हैं ये ‘बिग हिटर’

टीम ऑस्ट्रेलिया :

गोलकीपर – ब्रॉड जोन्स, मैथ्यू रेयान, मिशेल लेंगराक, डेनी वुकोविक.

फॉरवर्ड – डेनियल अरजानी, टिम काहिल, एपोस्टोलोस गियानोउ, टोमी जुरिक, मैथ्यू लेकी, जेमी मेक्लेरन, एंड्रयू नबाउट, डिमी पेट्राटोस, निकिता रुकावेत्साया.

मिडफील्डर – जोशुआ ब्रिलियांते, जेक्सन इर्विने, मिले जेडिनाक, रोबी क्रुसे, मासिमो लुओंगो, मार्क मिलिगान, एरॉन मूये, जेम्स ट्रोइसीय.

डिफेंडर – अजीज बेहिक, मिलोस डेगनेक, एलेक्स गेर्सबाक, मैथ्यू जुर्मान, फ्रॉन कराकिक, जेम्स मेरेडिथ, जोश रिडसन, ट्रेंट सेंसबरी, अलेंक्जेंडर सुसनजार और बेली राइट.