बेथ मूनी (Beth Mooney) के धमाकेदार शतक और भारत की अनुभवी तेज गेंदबाज झूलन गोस्वामी (Jhulan Goswami) की एक नो बॉल की वजह से भारतीय महिला टीम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दूसरे वनडे मैच में पांच विकेट से हार गई। हारुप पार्क में खेले जा रहे मुकाबले में जीत हासिल कर ऑस्ट्रेलिया टीम ने तीन मैचों की सीरीज में 2-0 से अजेय बढ़त बना ली है।

सलामी बल्लेबाज स्मृति मंधाना (Smriti Mandhana) की 86 रनों की पारी के दम पर टीम इंडिया के दिए 275 रन के लक्ष्य के जवाब में बेथ मूनी ने ऑस्ट्रेलिया के लिए 133 गेंदो पर 125 रनों की मैच विनिंग पारी खेली।

एक समय पर मात्र 52 रन पर चार विकेट खो चुकी ऑस्ट्रेलिया टीम को मूनी और ताहिला मैक्ग्रा ने जीत के करीब पहुंचाया। दोनों बल्लेबाजों ने मिलकर पांचवें विकेट के लिए 126 रन की शानदार साझेदारी बनाई।

ताहिला ने अपनी टीम के लिए 77 गेंद पर 74 रन की पारी खेली। 39वें ओवर में दीप्ती शर्मा ने मैक्ग्रा को आउट कर मूनी के साथ उनकी साझेदारी को तोड़ा। हालांकि मूनी ने ऑस्ट्रेलिया को खेल में बनाए रखा।

50वें ओवर में थम गई सांसे

मैच में अहम मोड़ आखिरी ओवर में आया जब कंगारू टीम जीत से मात्र 13 रन दूर थी और कप्तानी मिताली राज ने अपनी सबसे अनुभवी गेंदबाजी झूलन गोस्वामी को गेंद थमाई।

ओवर की पहली ही गेंद फुलटॉस रही, जिस पर शॉट लगाकर मूनी ने तीन रन लिए। अगली गेंद पर कैरी ने एक और बढ़िया शॉट लगाकर दो रन निकाले। तीसरी गेंद नो बॉल रही यानि कि ऑस्ट्रेलिया को एक अतिरिक्त गेंद और फ्री हिट मिली। अगली दो गेंदों पर ऑस्ट्रेलिया ने चार रन कमाए।

50वें ओवर की आखिरी गेंद पर ऑस्ट्रेलिया को तीन रनों की जरूरत थी लेकिन कैरी और मूनी एक ही रन ले पाए और भारत ने जीत अपने नाम कर ली। हालांकि रीप्ले में देखने पर पता चला कि गेंद बल्लेबाज की कमर से ऊपर थी यानि कि इसे नो बॉल करार दिया गया। ऑस्ट्रेलिया टीम ने छठीं गेंद पर दो रन बनाकर मैच के साथ साथ सीरीज भी अपने नाम की।