क्रिकेट समीक्षक और बोर्ड अधिकारी जहां कोरोना वायरस महामारी और लॉकडाउन के बीच आगामी टी20 विश्व कप के आयोजन के लिए नए विकल्पों पर चर्चा कर रहे हैं वहीं ऑस्ट्रेलियाई विस्फोटक बल्लेबाज क्रिस लिन (Chris Lynn) का कहना है कि इस टूर्नामेंट का आयोजन इस साल नहीं किया जाना चाहिए। Also Read - दिल्ली में 22000 के पार पहुंचे कोरोना वायरस के मामले, अब तक 556 की मौत

30 साल के लिन ने ‘फाक्स स्पोर्ट्स’ से कहा, ‘‘मेरा निजी नजरिया है कि नहीं (टी20 विश्व कप का आयोजन नहीं होना चाहिए)। बेशक हम प्रार्थना कर रहे हैं कि इसका आयोजन हो लेकिन हमें उसका सामना करना होगा जो हमारे सामने होगा।’’ Also Read - अगस्त-सितंबर में टीम इंडिया का कैंप लगाने के बारे में सोच रही है बीसीसीआई

टी20 विश्व कप का आयोजन अक्टूबर-नवंबर में ऑस्ट्रेलिया में होना है लेकिन मौजूदा हालात को देखते हुए इस प्रतियोगिता के लेकर अनिश्चितता बनी हुई है। Also Read - अमेरिका के बायोटेक कंपनी का दावा, कोरोना के मरीजों पर असरदार हो रहा है यह दवा

लिन ने इसके बाद उन चुनौतियों का जिक्र किया जिनका सामना आयोजकों को टूर्नामेंट का आयोजन करने की स्थिति में करना पड़ सकता है। उन्होंने कहा, ‘‘दुनिया भरे से यहां टीमों को बुलाना बुरे सपने की तरह हो सकता है। होटल, यात्रा, टूर्नामेंट की शुरुआत से पहले हफ्तों तक टीमों को होटल में रखना, ये चीजें काफी मुश्किल हो सकती हैं।’’

इस महामारी के कारण ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों के वेतन में कटौती की संभावना के बारे में पूछे जाने पर लिन ने कहा, ‘‘किसी को भी वेतन में कटौती पसंद नहीं है लेकिन मुझे लगता है कि खेल की बेहतरी के लिए आपको वास्तविकता का सामना करना पड़ेगा।’’