एडीलेड: आस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज जैसन गिलेस्पी ने कहा है कि महेंद्र सिंह धोनी अच्‍छी तरह जानते हैं कि मैच के हालात के अनुरूप कैसे खेलना है. यही वजह है कि वह भारत के लिए अभी भी बेहद उपयोगी हैं.

धोनी ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले दोनों वनडे मैचों में अर्धशतक जमाया. भारत और ऑस्ट्रेलिया फिलहाल सीरीज में 1-1 की बराबरी पर हैं. गिलेस्पी ने कहा, ‘‘भारत के लिए पिछले एक दशक से ज्‍यादा समय से धोनी मैच फिनिशर हैं. टीम को अभी भी उनके होने का फायदा मिल रहा है. सिडनी में जब टीम इंडिया खराब स्थिति में थी, तब भी इसका फायदा मिला. सिडनी में उसकी पारी धीमी थी, लेकिन समझना चाहिये कि क्यों. धोनी हालात के अनुरूप खेल रहे थे.’’

वर्ल्‍ड कप टीम में एमएस धोनी: पिक्‍चर अभी क्लियर नहीं हुई, कार्तिक-पंत की दावेदारी भी कमजोर नहीं

उन्होंने कहा ,‘‘ निचले क्रम पर उतरकर हालात के अनुरूप खेलना कठिन होता है. एडीलेड में हालात बिल्कुल अलग थे तो धोनी के खेलने का अंदाज भी बदल गया. वे 300 से ज्यादा वनडे खेल चुके हैं और उन्‍हें पता है कि अलग-अलग हालात में कैसे खेलना है.’’

धोनी के समर्थन में आए गावस्‍कर, कहा- कंसिस्‍टेंसी की कमी को भी बर्दाश्‍त करें क्‍योंकि वे टीम के लिए अहम हैं

गिलेस्पी ने दूसरे वनडे में विराट कोहली के शतक को शानदार बताते हुए कहा, ‘कोहली की शानदार पारी थी. कोहली बेहतरीन खिलाड़ी है और अलग ही तरह का बल्लेबाज है. उसके आंकड़े इसकी गवाही देते हैं. वनडे क्रिकेट में तेंदुलकर से 50 कम पारियों में 39 शतक और 10000 से अधिक रन.’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम सभी को पता है कि तेंदुलकर कितने उम्दा क्रिकेटर थे. कोहली इस समय दुनिया का सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज है.’’