नई दिल्ली. एक बड़ी प्रैक्टिकल बात है कि जब कोई मशहूर होने लगता है, तो उसकी शोहरत पर जलने वाले भी कई पैदा हो जाते हैं. एडिलेड टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया को हराकर विराट कोहली ने जो सुर्खियां बटोरी हैं, उसने उनके साथ ईर्ष्या करने वाले लोगों की कतार भी बढ़ा दी है. विराट कोहली से जलने वाले ऐसे ही एक पत्रकार हैं ऑस्ट्रेलिया के रॉबर्ट क्रैडॉक, जो ये मानते हैं कि विराट कोहली बल्लेबाज तो बहादुर हैं पर कप्तान डरपोक हैं.

विराट-अनुष्का के साथ माइकल वॉन ने किया एडिलेड से पर्थ का सफर, जो देखा उसके बाद कहा- ‘ऑस्ट्रेलिया फिर हारेगा’

विराट को कहा ‘डरपोक’ कप्तान

ऑस्ट्रेलियाई जर्नलिस्ट रॉबर्ट ‘क्रैश’ क्रैडॉक के मुताबिक एडिलेड टेस्ट में जब ऑस्ट्रेलियाई टैलेंडर विकेट पर टिक गए थे तो कप्तान विराट कोहली की हवाईयां उड़ने लग गईं थी. एक अच्छी खासी लीड होने के बावजूद कप्तान कोहली ने अटैकिंग होने के बजाए डिफेंसिव फील्ड लगाई, जिसमें ज्यादातर फील्डर बाउंड्री पर खड़े दिखे. क्रैडॉक ने कहा, ” इसमें दो राय नहीं कि विराट दुनिया के सबसे निडर बल्लेबाजों में से एक हैं लेकिन ये निडरता और बहादुरी उनकी कप्तानी में नहीं झलकती.” ऑस्ट्रेलियाई पत्रकार के मुताबिक मुकाबले के बाद जब विराट से ये सवाल किया गया कि क्या मैच के नाजुक पलों में उन पर कोई दबाव था तो उन्होंने स्वीकार भी किया कि ऐसा था, पर वो अपने इमोशन को दिखाना नहीं चाहते थे.

ICC Test Ranking: विराट की बादशाहत को खतरा, स्टीव स्मिथ को पीछे छोड़ इस बल्लेबाज ने दी चुनौती

‘डरपोक’ ही सही पर जीते तो 

बहरहाल, ऑस्ट्रेलियाई पत्रकार ने विराट कोहली की कप्तानी पर सवाल तो उठा दिए, पर ये उनकी अपनी टीम के हारने की टिस से ज्यादा कुछ भी नहीं है. ये जलन है जो टीम इंडिया की जीत के बाद बाहर आई है, क्योंकि जंग हो या कोई खेल कोई भी सेनापति, नायक या फिर कप्तान जीत के रूल के हिसाब से हर हथकंडा आजमाता है.

शेन वॉर्न ने दिखाया एडिलेड टेस्ट का ये VIDEO तो छूटी विराट कोहली की हंसी

हार से तिलमिलाया ऑस्ट्रेलियाई पत्रकार

एडिलेड टेस्ट जीतने के लिए कप्तान कोहली को हालात के मुताबिक जो तरीका सही लगा वो उन्होंने आजमाया और सफलता हासिल की. और, वैसे भी अंत में जीत किसकी कप्तानी की हुई ये ज्यादा मायने रखती है. एडिलेड में विराट कोहली की डिफेंसिव ही सही पर कप्तानी का वो तरीका टिप पेन पर भारी पड़ा और य़े बात ऑस्ट्रेलियाई पत्रकार क्रैडॉक को समझ लेनी चाहिए.