मेलबर्न में डेनियल कॉलिन्स को हराकर ऐश बार्टी (Ash Barty) ने ऑस्ट्रेलियन ओपन पर कब्जा कर घरेलू विजेता के लिए ऑस्ट्रेलिया का 44 साल का लंबा इंतजार खत्म कर दिया है। शनिवार को खेले गए फाइनल मुकाबले में बार्टी ने कॉलिन्स को 6-3, 7-6(2) सीधे सेटों में हराकर अपना तीसरा ग्रैंड स्लैम जीता।Also Read - महान टेनिस खिलाड़ी Boris Becker को इंग्‍लैंड की अदालत ने सुनाई 2.5 साल की सजा, ये है पूरा मामला

पहले सेट में आसान जीत हासिल करने के बाद दुनिया की नंबर एक खिलाड़ी दूसरे सेट में 5-1 से पिछड़ गई थी लेकिन शानदार वापसी करते हुए उन्होंने टाईब्रेक में जीत हासिल की और ऑस्ट्रेलियन ओपन चैंपियन का ताज अपने नाम कर लिया। Also Read - खेल के मैदान पर लौंटी एशले बार्टी, लेकिन नहीं थामा टेनिस रैकेट, गोल्फ की ओर किया रुख

2019 में फ्रेंच ओपन और पिछले साल विंबलडन जीतने के बाद 25 साल की बार्टी का ये तीसरा ग्रैंड स्लैम खिताबा था। बार्टी से पहले सेरेना विलियम्स एकलौती ऐसी खिलाड़ी हैं जो तीनों सतहों पर बड़े खिताब जीत चुकी हैं। Also Read - टेनिस से संन्यास लेकर क्रिकेट का रुख करेंगी ऐश बार्टी, कप्तान मेग लेनिंग ने कहा- दिल से करेंगे स्वागत

उन्होंने क्रिस्टीन ओ’नील के साथ ये उपलब्धि हासिल की, जो मेलबर्न में जीतने वाले आखिरी ऑस्ट्रेलियाई पुरुष या महिला खिलाड़ी थे। ओ’नील ने 1978 में ऑस्ट्रेलियन ओपन खिताब जीता था।

उन्होने मैच से पहले संवाददाताओं से कहा, “मैं शायद उसका (बार्टी का) सबसे बड़ा प्रशंसक हूं। मुझे उसे ये कीर्तिमान सौंपने में खुशी होगी क्योंकि वो इसके लिए बहुत योग्य है।”