Australian Open 2022: Novac Djokovic को ऑस्ट्रेलिया में नहीं मिली एंट्री, कोरोना नियमों का नहीं किया पालन

दुनिया के नंबर 1 टेनिस खिलाड़ी Novac Djokovic यह बताने को तैयार नहीं हैं कि उन्होंने कोरोना की वैक्सीन ली है या नहीं. इसके चलते उन्हें ऑस्ट्रेलिया में एंट्री नहीं मिली है.

Published: January 6, 2022 1:24 PM IST

By India.com Hindi Sports Desk | Edited by Arun Kumar

Australian Open 2022: Novac Djokovic को ऑस्ट्रेलिया में नहीं मिली एंट्री, कोरोना नियमों का नहीं किया पालन
नोवाक जोकोविच @AFP

दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी नोवाक जोकोविच (Novac Djokovic) को ऑस्ट्रेलिया ने प्रवेश देने से मना कर दिया है. जोकोविच ऑस्ट्रेलियन ओपन (Australian Open 2022) में भाग लेने आए थे. लेकिन कोरोना वैक्सीन नियमों में छूट नहीं मिलने के कारण ऑस्ट्रेलिया सीमा बल ने उन्हें एयरपोर्ट पर उतरने के बाद देश में प्रवेश की अनुमति नहीं दी. जोकोविच यहां अपना 10वां ऑस्ट्रेलियाई ओपन खिताब जीतने के इरादे से आए थे. उन्हें पहले वीजा जारी कर दिया गया था लेकिन कोरोना टीकाकरण नियमों (Corona Vaccine Rules in Australia) में छूट के लिये जरूरी शर्तों को पूरा करने में नाकाम रहने के कारण इसे रद्द कर दिया गया.

Also Read:

जोकोविच ने मंगलवार को सोशल मीडिया पर कहा था कि उन्हें मेडिकल छूट मिली है और वह बुधवार को देर रात आस्ट्रेलिया पहुंचे. इस मेडिकल छूट के तहत विक्टोरिया सरकार के कड़े टीकाकरण नियमों के पालन से उन्हें राहत मिली थी. सीमा अधिकारियों ने हालांकि छूट को स्वीकार नहीं किया. ऑस्ट्रेलियाई सीमा बल ने एक बयान में कहा कि जोकोविच जरूरी शर्ते पूरी करे में नाकाम रहे हैं.

प्रधानमंत्री स्कॉट मौरिसन ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘नियम एकदम साफ है. आपको मेडिकल छूट लेनी होगी जो उसके पास नहीं थी. हमने सीमा पर बात की और वहीं ये हुआ.’ स्वास्थ्य मंत्री ग्रेग हंट ने कहा कि सीमा अधिकारियों ने जोकोविच को मिली मेडिकल छूट की समीक्षा करने के बाद उनका वीजा रद्द किया. उन्होंने कहा कि जोकोविच इस फैसले के खिलाफ अपील कर सकते हैं लेकिन अगर वीजा रद्द हो गया है तो उन्हें देश छोड़ना होगा.

जोकोविच के देश सर्बिया के राष्ट्रपति ने उनके साथ हुए बर्ताव की निंदा की है. जोकोविच को रात भर मेलबर्न हवाई अड्डे पर रखा गया. बीस बार के ग्रैंडस्लैम चैम्पियन को 8 घंटे यह जानने के लिS इंतजार करना पड़ा कि उन्हें ऑस्ट्रेलिया में प्रवेश मिलेगा या नहीं. बाद में उन्हें अगली उड़ान या कानूनी कार्रवाई तक होटल भेज दिया गया.

ऑस्ट्रेलियन ब्रॉडकास्टिंग कारपोरेशन (ABC) और अन्य स्थानीय मीडिया ने बताया कि जोकोविच का वीजा रद्द करने के खिलाफ फेडरल कोर्ट में कार्रवाई शुरू हो गई है. जोकोविच अगर साबित कर देते कि उन्होंने कोरोना के टीके लगवा लिए हैं तो यह नौबत ही नहीं आती लेकिन उन्होंने मेडिकल छूट मांगी. उन्हें दी गई छूट पर भी सवाल उठे थे.

मौरिसन ने ट्वीट किया, ‘नियम तो नियम है, खासकर जब सीमा की बात हो. कोई भी इन नियमों से ऊपर नहीं है. हमारी कड़ी सीमा नीति की वजह से ही ऑस्ट्रेलिया में कोरोना वायरस की वजह से मृत्युदर कम है. हमें सतर्क रहना होगा.’

संघीय सरकार और प्रदेश सरकार की अलग अलग जरूरतों से पैदा हुए कन्फ्यूजन के बारे में पूछने पर मौरिसन ने कहा कि यह यात्री पर निर्भर करता है कि वह यहां पहुंचने पर सही दस्तावेज दे. उन्होंने इस आरोप को भी खारिज किया कि जोकोविच को निशाना बनाया जा रहा है लेकिन कहा कि ऑस्ट्रेलिया में अन्य खिलाड़ी किसी तरह की मेडिकल छूट और वीजा पर हैं.

उन्होंने कहा, ‘यहां आने वाले हर व्यक्ति को चाहे वह बड़ी हस्ती हो, राजनेता या टेनिस खिलाड़ी, उनसे सवाल पूछे जाते हैं.’ मेडकिल छूट की समीक्षा खिलाड़ियों द्वारा मुहैया कराई गई जानकारी के आधार पर विशेषज्ञों की दो स्वतंत्र पेनल करती है. इसी के तहत जोकोविच को ऑस्ट्रेलियाई ओपन खेलने के लिये छूट मिली थी. जोकोविच यह बताने से लगातार इनकार करते आए हैं कि उन्होंने कोरोना के टीके लगवाए हैं या नहीं.

(इनपुट: भाषा)

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें खेल की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date: January 6, 2022 1:24 PM IST