मेलबर्न: नोवाक जोकोविच ने शुक्रवार को अपने रिकॉर्ड सातवें ऑस्ट्रेलियाई ओपन खिताब की ओर कदम बढ़ाते हुए फ्रांस के 28वीं वरीयता प्राप्त खिलाड़ी लुका पुई को 6-0 6-2 6-2 से हराकर फाइनल में प्रवेश किया. फाइनल में उनका सामना रफेल नडाल से होगा जो पांचवीं बार इस चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचे हैं.

दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी ने रॉड लेवर एरेना में बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए 2016 के बाद मेलबर्न में पहली बार फाइनल में जगह बनाई. जोकोविच ने 24 विनर लगाए और महज पांच अनफोर्स्ड गलतियां कीं. उन्होंने कहा, ‘‘इस कोर्ट पर मैंने जितने मैच खेले हैं, उनमें से यह निश्चित रूप से सर्वश्रेष्ठ में से एक रहा. सब कुछ वैसा ही रहा जैसा मैंने मैच से पहले सोचा था.’’

WI Vs Eng ब्रिजटाउन टेस्ट : केमर रोच के तूफान में पहली पारी में 77 रन पर सिमटा इंग्‍लैंड, वेस्‍टइंडीज को बढ़त

जोकोविच पिछले साल चौथे दौर में हार गए थे. अब उनका सामना दूसरे वरीय नडाल से होगा. इन दोनों के बीच यह करियर की 53वीं भिड़ंत है और ग्रैंडस्लैम के फाइनल में आठवां मुकाबला है. वर्ष 2012 में दोनों के बीच ऑस्ट्रेलियाई ओपन में ग्रैंडस्लैम का लंबा फाइनल खेला गया था जब जोकोविच ने पांच घंटे 53 मिनट तक चले मुकाबले के पांचवें सेट में 7-5 से जीत हासिल की थी.

टीम इंडिया में बढ़ रहे कॉम्पिटीशन पर धवन की प्रतिक्रिया, पृथ्वी ने बेंच स्ट्रेंथ बनाई मजबूत

जोकोविच को ग्रैंडस्लैम के 34वें ग्रैंडस्लैम सेमीफाइनल में लुका पुई को हराने में महज 83 मिनट लगे. चौदह बार के ग्रैंडस्लैम विजेता जोकोविच तरोताजा थे क्योंकि क्वार्टर फाइनल में उनके प्रतिद्वंद्वी केई निशिकोरी को महज 51 मिनट के बाद हटने के लिए बाध्य होना पड़ा था. सर्बियाई खिलाड़ी ने पुई को आसानी से मात दी. उन्होंने पहला सेट महज 21 मिनट में 6-0 से जीता.

ऑस्‍ट्रेलियन ओपन: फाइनल में क्वितोवा से भिड़ेंगी ओसाका, जीतीं तो बनेंगी वर्ल्‍ड नंबर वन

इसके बाद दूसरे सेट में पुई ने पहली सर्विस बचा ली जिससे सेंटर कोर्ट के प्रशंसकों ने काफी तारीफ की लेकिन यह थोड़े समय के लिए ही रही. जोकोविच ने तुरंत ही मौका पाकर इसे भी अपने नाम कर लिया. इसके बाद जोकोविच को पुई को हराने में 23 मिनट लगे जिससे वह 2016 के बाद पहले मेलबर्न फाइनल में पहुंच गए. गुरुवार को नडाल ने यूनान के प्रतिद्वंद्वी स्टेफानोस स्टीपास को एक घंटे 46 मिनट में हराकर फाइनल में जगह बनाई थी.