ऑस्ट्रेलिया के खेल मंत्री रिचर्ड कोलबेक ने कहा कि उनका देश टी20 विश्व कप के लिए टीमों की मेजबानी करने की चुनौती से पार पा सकता है लेकिन मुख्य मुद्दा ये है कि क्या टूर्नामेंट का आयोजन दर्शकों के बिना खाली स्टेडियमों में करना सही होगा। Also Read - क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के सीईओ ने कहा- इस साल टी20 विश्व कप होने की संभावना बेहद कम

टी20 विश्व कप और भारतीय टीम के ऑस्ट्रेलियाई दौरे पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं क्योंकि अभी यात्रा संबंधी पाबंदियां लगी हुई है और ये भी सुनिश्चित नहीं है कि कोविड-19 महामारी को नियंत्रित करने में कितना समय लगेगा। अगर ये दोनों टूर्नामेंट नहीं होते हैं तो क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया को 30 करोड़ ऑस्ट्रेलियाई डालर का नुकसान हो सकता है। Also Read - IPL आयोजन पर बोले रिजिजू- खेल प्रतियोगिता आयोजित करने के लिए देशवासियों को खतरे में नहीं डाल सकते

कोलबेक ने सोमवार को सेन रेडियो से कहा, ‘‘मैं ऑस्ट्रेलिया और भारत के बीच टेस्ट सीरीज देखना चाहूंगा। मैं वास्तव में चाहता हूं कि विश्व कप तय कार्यक्रम के अनुसार आयोजित किया जाए। टीमें इतना बड़ा मुद्दा नहीं है जितना दर्शक हैं और ये एक ऐसी बाधा है जिसके बारे में वास्तव में हमें विचार करना होगा और विश्व क्रिकेट को भी जिसके बारे में गंभीरता से सोचना होगा।’’ Also Read - कपिल देव ने किया खुलासा, इन दो दिग्गज क्रिकेटरों से प्रेरित है उनका नया लुक

मंत्री ने कहा कि कोविड-19 पर नियंत्रण के बाद टीमों की मेजबानी करने से जुड़े मसलों से निबटा जा सकता है। उन्होंने कहा, ‘‘हम सभी परिस्थितियों में अंतर को समझते हैं लेकिन जहां तक टीमों का मसला है तो मुझे लगता है कि हम खेल और खिलाड़ियों के सहयोग से कुछ नियम तय कर सकते हैं जो कि बेहद महत्वपूर्ण हैं। अगर हम टूर्नामेंट का आयोजन करते हैं तो निश्चित अवधि तक पृथक रहना और जैव सुरक्षा प्रोटोकाल जरूरी है।’’

टी20 विश्व कप 18 अक्टूबर से शुरू होना है जबकि भारत का ऑस्ट्रेलिया दौरा इससे पहले टी20 ट्राई सीरीज से शुरू होगा और दिसंबर में चार टेस्ट मैचों की सीरीज के साथ समाप्त होगा।अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने हाल में कहा था कि 16 देशों के इस टूर्नामेंट के आयोजन की तैयारियां अब भी चल रही हैं और इस पर अंतिम फैसला अगस्त में किया जाएगा।

ऑस्ट्रेलिया अपने क्रिकेट बोर्ड को भारी वित्तीय नुकसान से बचाने के लिए भारतीय टीम के लिए यात्रा छूट देने पर विचार कर रहा है लेकिन कोलबेक ने कहा कि उन्हें टी20 विश्व कप के लिये अन्य देशों को छूट देने में सावधानी बरतने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा, ‘‘इन सब मसलों पर चर्चा चल रही है।’’